About Me

My photo
"खेल सिर्फ चरित्र का निर्माण ही नहीं करते हैं, वे इसे प्रकट भी करते हैं." (“Sports do not build character. They reveal it.”) shankar.chandraker@gmail.com ................................................................................................................................................. Raipur(Chhattigarh) India

Monday 31 October 2011

रायपुर से दिल्ली तक फार्मूला-वन का रोमांच

0 इंडियन ग्रां-प्रि का गवाह बने  राजधानी के कई लोग
0 छत्तीसगढ़ में भी बढ़ेगा मोटर स्पोर्ट्स का क्रेज

रायपुर। इंडियन ग्रां-प्रि (ग्रैड प्रिक्स) फार्मूला वन रेस का रोमांच राजधानी रायपुर से दिल्ली-नोएडा तक छाया हुआ है। ग्रेटर नोएडा के बुद्ध इंटरनेशनल सर्किट में पहली बार हुयी इस रेस का रायपुर के कई लोग गवाह बने। मोटर स्पोर्ट्स से जुड़े लोगों का मानना है कि भारी-भरकम खर्च व रोमांच से भरपूर इस खेल का क्रेज आने वाले दिनों में छत्तीसगढ़ ही नहीं, देश के अन्य हिस्सों में भी बढ़ेगा।
देश में पहली बार हो रही फार्मूला-वन रेस का नाम आजकल हर किसी के जुबान पर है। छत्तीसगढ़ मोटर स्पोर्ट्स एसोसिएशन के सचिव उज्ज्वल दीपक वहां मार्शल के रूप में अपनी सेवाएं दे रहे हैं। वहीं संघ के अध्यक्ष हैप्पी सिब्बल भी नोएडा में फार्मूला वन का रोमांचक अनुभव ले रहे हैं।
दिल्ली से श्री सिब्बल ने बताया  कि बहुत की शानदार आयोजन हो रहा है। पहली बार भारत में इतना बड़ा आयोजन हो रहा है। रविवार को होने वाली मुख्य रेस का रोमांच ही अलग होगा। उन्होंने कहा कि इससे देश में फार्मूला वन का क्रेज बढ़ेगा। इस आयोजन से लोगों को भी इसकी ज्यादा जानकारी होगी। 
संघ के सचिव उज्जवल दीपक ने कहा कि इंडियन ग्रांप्री से भारत में मोटर स्पोर्ट्स को बढावा मिलेगा. छत्तीसगढ़ में भी इसे बढावा देने का प्रयास किया जायेगा.
संघ के उपाध्यक्ष डॉ. विष्णु श्रीवास्तव ने कहा कि वे व्यस्तता की वजह से फार्मूला वन रेस देखने नहीं जा सके, लेकिन छत्तीसगढ़ से कई लोग गए हैं। उन्होंने कहा कि यह भारत ही नहीं, एशिया में सबसे बड़ा आयोजन है। यह ऐसा खेल है, जिसमें रोमांच व स्पीड है। इसमें जितना खर्च हुआ है वह आने वाले समय में उसकी लागत से अधिक वसूल हो जाएगी। देश को भी राजस्व मिलेगा।
मोटर स्पोर्ट्स का क्रेज बढ़ेगा
शाहनवाज खान
प्रदेश के पहले अंतरराष्ट्रीय बाइक रेसर रायपुर के शाहनवाज खान का कहना है कि फार्मूला वन से देश ही नहीं छत्तीसगढ़ में भी मोटर स्पोर्ट्स का क्रेज बढ़ेगा। उन्होंने कहा कि उन्हें भी मार्शल का पास मिला था, लेकिन इस समय उनकी ट्रेनिंग चल रही है, इसलिए वे नहीं जा सके। वे टीवी पर देखकर इसका रोमांच लेंगे। इसी माह चेन्नाई से अंतरराष्ट्रीय बाइक रेसिंग में हिस्सा लेकर लौटे शाहनवाज ने कहा कि छत्तीसगढ़ में अब धीरे-धीरे युवाओं में मोटर स्पोर्ट्स व बाइक रेसिंग क्रेज बढ़ रहा है। फार्मूला वन से इसका क्रेज और बढ़ेगा।
********************************************************************************
दस साल में चार बड़े आयोजन
डॉ. विष्णु श्रीवास्तव
नया राज्य होने के बावजूद बीते दस सालों में छत्तीसगढ़ में नेशनल लेवल के मोटर स्पोर्ट्स के चार बड़े आयोजन हो चुके हैं। इनमें से दो कार रैली और दो नेशनल बाइक रेसिंग शामिल हैं। इस संबंध में संघ के उपाध्यक्ष डॉ. विष्णु श्रीवास्तव का कहना है कि कम समय ही छत्तीसगढ़ में मोटर स्पोर्ट्स को काफी बढ़ावा मिला है। 
छग में अब तक के आयोजन
1. वर्ष 2003 में देश का सबसे बड़ा सिंगल डे मोटर कार रैली। इसके तहत रायपुर से मैनपाट तक करीब 402 किमी की रैली आयोजित की गई।
2. वर्ष 2005 में आल इंडिया एयरटेल वन चैलेंज कार रैली। इसमें छत्तीसगढ़ ने उड़ीसा के बरगढ़ से गोंदिया तक की करीब 300 किमी से कार रैली की मेजबानी की थी, जो नागपुर होते हुए दिल्ली गई।
3. वर्ष 2006 में नेशनल डर्ट ट्रैक बाइक रेसिंग चैंपियनशिप। इसका आयोजन साइंस कालेज मैदान पर हुआ था। इसमें देशभर के बाइक रेसरों ने हिस्सा लिया था।
4. वर्ष 2009 में नेशनल सुपर क्रास बाइक रेसिंग चैंपियनशिप। इसका आयोजन भी साइंस कालेज मैदान पर हुआ था।
******************************************************************************
भारत फार्मूला वन का उभरता बाजार
0 छग मोटर स्पोर्ट्स एसोसिएशन के सचिव उज्जवल दीपक ने की फार्मूला वन के अंतरराष्ट्रीय मुखिया बर्नी एक्लेस्टोन से मुलाकात
उज्जवल दीपक व बर्नी एक्लेस्टोन
रायपुर। फार्मूला वन मैनेजमेंट के अंतरराष्ट्रीय प्रेसिडेंट व सीईओ बर्नी एक्लेस्टोन का कहना है कि भारत फार्मूला वन का उभरता हुआ बाजार है। वे भारत में इसके तेजी से लोकप्रिय होने के प्रति आशान्वित हैं।
नोएडा में छत्तीसगढ़ मोटर स्पोर्ट्स एसोसिएशन के सचिव उज्जवल दीपक ने श्री एक्लेस्टोन से मुलाकात कर चर्चा की। श्री दीपक ने बताया कि चर्चा के दौरान श्री एक्लेस्टोन ने कहा कि भारत में फार्मूला वन तेजी से लोकप्रिय हो रहा है। इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि फार्मूला वन के सभी टिकटों की बिक्री हो चुकी है। यहां लोगों में फार्मूला वन के प्रति उत्साह को देखकर वे उत्साहित हैं। फार्मूला वन मैनेजमेंट के लिए भारत एक उभरता हुआ बाजार है और इसे नकारा नहीं जा सकता। फार्मूला वन को बढ़ावा देने के लिए अब अन्य देशों के अलावा भारत पर भी फोकस किया जाएगा। भारत अब फार्मूला वन मैनेजमेंट के प्राथमिकता सूची में शामिल रहेगा।
अगले साल का आबंटन भी
श्री दीपक ने बताया कि फार्मूला वन मैनेजमेंट ने आयोजन की सफलता को देखते हुए अगले साल का आबंटन भी तय कर दिया है। चर्चा के दौरान श्री एक्लेस्टोन ने बताया कि भारत को अगले साल का आबंटन भी दे दिया गया है। वर्ष 2012 में अक्टूबर में ही अगला फार्मूला वन रेस का आयोजन होगा।

No comments:

Post a Comment