About Me

My photo
"खेल सिर्फ चरित्र का निर्माण ही नहीं करते हैं, वे इसे प्रकट भी करते हैं." (“Sports do not build character. They reveal it.”) shankar.chandraker@gmail.com ................................................................................................................................................. Raipur(Chhattigarh) India

Sunday 13 February 2011

अभ्यास मैच में टीम इंडिया पास

virendra sehwag
बेंगलुरु. पीयूष चावला की खूबसूरत लेग ब्रेक और हरभजन सिंह की चतुराई भरी गेंदबाजी से भारत ने विश्व कप से पहले अपने स्पिन आक्रमण की मजबूती का बेमिसाल नजारा पेश करके रविवार को अभ्यास मैच में पिछले तीन बार के चैंपियन आस्ट्रेलिया को 38 रन से मात देकर अपने कम स्कोर का बखूबी बचाव किया।
भारत के लिए हालांकि मध्यक्रम की नाकामी चिंता का विषय बना हुआ है क्योंकि टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने की उतरी महेंद्र सिंह धोनी टीम में से केवल वीरेंद्र सहवाग (56 गेंद पर 54 रन) ही गेंदबाजों का डटकर सामना कर पाए। भारत की तरफ से कोई अर्धशतकीय साझेदारी नहीं निभाई गई और उसकी पूरी टीम 44.3 ओवर में 214 रन पर सिमट गई। चावला ने 31 रन देकर चार और हरभजन ने 15 रन देकर तीन विकेट लिए और आस्ट्रेलिया के लिए यह स्कोर भी बड़ा साबित कर दिया। आस्ट्रेलियाई
piyush chawl
टीम के लिए अच्छी बात यह रही कि चोट से उबरने के बाद वापसी करने वाले कप्तान रिकी पोंटिंग (85 गेंद पर 57 रन) बल्लेबाजी का पर्याप्त अभ्यास करने में सफल रहे। उनके अलावा टिम पेन (37) और शेन वाटसन (33) की सलामी जोड़ी ही कुछ रन बटोर पाई लेकिन अंतिम नौ विकेट 58 रन के अंदर गंवाने से उसकी पूरी टीम 37.5 ओवर में 176 रन पर ढेर हो गई। चावला कभी अपनी गुगली पर अधिक विश्वास दिखाते थे लेकिन आज उन्होंने लेग ब्रेक और स्लाइडर का जानदार नमूना पेश किया और आस्ट्रेलियाई मध्यक्रम को तहस-नहस करने में अहम भूमिका निभाई। वाटसन और पेन ने पहले विकेट के लिए 51 रन की साझेदारी करके आस्ट्रेलिया को धमाकेदार शुरुआत दी। पोंटिंग और पेन ने दूसरे विकेट के लिए 67 रन जोड़े लेकिन इसके बाद केवल विकेटों का पतझड़ देखने को मिला। वाटसन ने आते ही आशीष नेहरा के पहले ओवर में ही दो चौके जड़े। धोनी ने जब नेहरा की जगह पर मुनाफ को उतारा तो वाटसन ने उनके पहले ओवर में तीन और दूसरे ओवर में दो चौके जमाए। श्रीसंथ की गेंद पर चावला ने उनका कैच लपककर भारत को पहला विकेट दिलाने में अहम भूमिका निभाई। पोंटिंग ने आते ही आर अश्विन पर तीन चौके जमाए लेकिन इसके बाद स्पिनरों विशेषकर चावला के सामने रन बनाने में उन्हें भी खासी परेशानी हुई। बीच में 19 ओवर तक केवल एक बार गेंद ने सीमा रेखा के दर्शन किए।
आस्ट्रेलिया हालांकि एक विकेट पर 118 रन के स्कोर तक अच्छी स्थिति में दिख रहा था लेकिन चावला का जादू चलने के बाद उसका मध्यक्रम बुरी तरह लड़खड़ा गया। इसकी शुरुआत युवराज ने पेन को आउट करके की जिसके बाद चावला ने उम्दा लेग ब्रेक पर माइकल क्लार्क (शून्य) को बोल्ड किया और फिर कैमरून वाइट और डेविड हस्सी को लगातार गेंद पर पवेलियन की राह दिखाई। कैलम फर्गुसन को जीवनदान मिला लेकिन वह इसका फायदा नहीं उठा पाए और अगले ओवर में चावला के जाल में फंस गए। हरभजन सिंह ने एक छोर संभाले रखने वाले पोंटिंग, मिशेल जानसन (15) और जैसन क्रेजा को आउट करके भारत की जीत सुनिश्चित की।
इससे पहले सहवाग को छोड़कर कोई भी भारतीय बल्लेबाज आस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाजों का डटकर सामना नहीं कर पाया। विराट कोहली (21), धोनी (11) और सुरेश रैना (12) सभी ने कुछ समय क्रीज पर बिताया लेकिन जब टीम को जरूरत थी तब उन्होंने अपने विकेट गंवाए। भारत का बल्लेबाजी में लचर प्रदर्शन का आलम यह रहा कि उसकी तरफ से सबसे बड़ी भागीदारी नौवें विकेट के लिए 49 रन की पठान और आर अश्विन (नाबाद 25) ने की।

4 comments:

  1. इस बात में कोई भी दो राय नहीं है कि लिखना बहुत ही अच्छी आदत है, इसलिये ब्लॉग पर लिखना सराहनीय कार्य है| इससे हम अपने विचारों को हर एक की पहुँच के लिये प्रस्तुत कर देते हैं| विचारों का सही महत्व तब ही है, जबकि वे किसी भी रूप में समाज के सभी वर्गों के लोगों के बीच पहुँच सकें| इस कार्य में योगदान करने के लिये मेरी ओर से आभार और साधुवाद स्वीकार करें|

    अनेक दिनों की व्यस्ततम जीवनचर्या के चलते आपके ब्लॉग नहीं देख सका| आज फुर्सत मिली है, तब जबकि 14 फरवरी, 2011 की तारीख बदलने वाली है| आज के दिन विशेषकर युवा लोग ‘‘वैलेण्टाइन-डे’’ मनाकर ‘प्यार’ जैसी पवित्र अनुभूति को प्रकट करने का साहस जुटाते हैं और अपने प्रेमी/प्रेमिका को प्यार भरा उपहार देते हैं| आप सबके लिये दो लाइनें मेरी ओर से, पढिये और आनन्द लीजिये -

    वैलेण्टाइन-डे पर होश खो बैठा मैं तुझको देखकर!
    बता क्या दूँ तौफा तुझे, अच्छा नहीं लगता कुछ तुझे देखकर!!

    शुभाकॉंक्षी|
    डॉ. पुरुषोत्तम मीणा ‘निरंकुश’
    सम्पादक (जयपुर से प्रकाशित हिन्दी पाक्षिक समाचार-पत्र ‘प्रेसपालिका’) एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष-भ्रष्टाचार एवं अत्याचार अन्वेषण संस्थान (बास)
    (देश के सत्रह राज्यों में सेवारत और 1994 से दिल्ली से पंजीबद्ध राष्ट्रीय संगठन, जिसमें 4650 से अधिक आजीवन कार्यकर्ता सेवारत हैं)
    फोन : 0141-2222225(सायं सात से आठ बजे के बीच)
    मोबाइल : 098285-02666

    ReplyDelete
  2. ब्लॉग की दुनिया में आपका स्वागत, उत्तरप्रदेश ब्लोगेर असोसिएसन uttarpradeshblogerassociation.blogspot.com ब्लोगेरो की एक बड़ी संस्था बन रही है. आप इसके प्रशंसक बनकर हमारा उत्साह वर्धन करें. इस सामुदायिक चिट्ठे पर लेखक बनने के लिए अपना मेल आईडी इस पते पर भेंजे, indianbloger@gamil.com , इसके बाद आपको एक निमंत्रण मिलेगा और उसे स्वीकार करते ही आप इसके लेखक बन जायेंगे.


    साथ ही पूर्वांचल प्रेस क्लब [ poorvanchalpressclub.blogspot.com से जुड़े इसके समर्थक बने, और अपने क्षेत्र की मीडिया से सम्बंधित पोस्ट हमें editor.bhadohinews @gamil.com पर या editor.bhadohinews.harish @blogger.com भेंजे

    ReplyDelete
  3. अच्छी शुरुआत।
    शोभनम्।
    स्वागत है आपका
    आइये हिन्दी
    एवं हिन्दी ब्लॉग जगत् को सुशोभित कीजिये
    इसे समृद्ध बनाइये।

    ReplyDelete
  4. इस सुंदर से चिट्ठे के साथ आपका हिंदी चिट्ठा जगत में स्‍वागत है .. नियमित लेखन के लिए शुभकामनाएं !!

    ReplyDelete