About Me

My photo
"खेल सिर्फ चरित्र का निर्माण ही नहीं करते हैं, वे इसे प्रकट भी करते हैं." (“Sports do not build character. They reveal it.”) shankar.chandraker@gmail.com ................................................................................................................................................. Raipur(Chhattigarh) India

Wednesday 23 February 2011

विश्व कप : पाक ने केन्या को दबोचा


पाकिस्तान ने एकतरफा 205 रन से रौंदकर शाही आगाज किया
हम्बनतोता. मध्यक्रम के बल्लेबाजों की बेमिसाल पारियों और कप्तान शाहिद अफरीदी की बलखाती गेंदों के दम पर पाकिस्तान ने आईसीसी विश्व कप ग्रुप ए में बुधवार को कमजोर कीनिया को 205 रन से रौंदकर क्रिकेट महाकुंभ में अपने अभियान का शाही आगाज किया। उमर अकमल मैन आफ द मैच रहे। 
उमर अकमल
मध्यक्रम के चार बल्लेबाजों की अर्धशतकीय पारियों और विशेषकर बल्लेबाजी पावरप्ले में दिखाई गई पावर से पाकिस्तान ने बेहद लचर और भयावह शुरुआत से उबरकर सात विकेट 317 रन बनाए। कीनिया ने लक्ष्य के बजाय अधिक से अधिक ओवर तक टिके रहने को तरजीह दी लेकिन वह इस उद्देश्य में भी नाकाम रहा और उसकी पूरी टीम 33.1 ओवर में 112 रन पर ढेर हो गई। अफरीदी ने 16 रन देकर पांच विकेट लिए।
पाकिस्तान का स्कोर एक समय दो विकेट पर 12 रन था। कामरान अकमल (55) और यूनिस खान (50) ने उसे इस खराब शुरुआत से उबारा जबकि बाद में मिसबाह उल हक (65) और उमर अकमल (71) ने इसे आगे बढ़ाया। पाकिस्तान ने स्लाग ओवरों में ताबड़तोड़ रन बटोरे और अंतिम सात ओवर में 101 रन जोड़े। इसमें से 44वें ओवर से लिए गए पावरप्ले में बने 70 रन भी शामिल हैं। कीनिया के किसी भी बल्लेबाज के पास पाकिस्तान के तेज और स्पिन आक्रमण का जवाब नहीं था। उसके शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों ने कुछ देर संघर्ष किया लेकिन मध्य और निचला क्रम बुरी तरह लड़खड़ा गया। कीनिया के चार बल्लेबाज दोहरे अंक में पहुंचे जिसमें कोलिन्स ओबुया ने सर्वाधिक 47 रन बनाए। उसने अपने अंतिम आठ विकेट 39 रन के अंदर गंवाए।
शाहिद अफरीद
 इस मैच में फिर से अनुभवहीनता का बड़ा अंतर देखने को मिला। कीनिया के गेंदबाजों ने शुरू में कसी हुई गेंदबाजी की लेकिन अनुभवहीनता उनके आड़े आई। उन्होंने 46 अतिरिक्त रन दिए जिसमें 37 वाइड शामिल हैं। इससे पाकिस्तान को खराब शुरुआत से उबरने में मदद भी मिली। इसके अलावा कामरान और यूनिस की तीसरे विकेट के लिए 98 रन तथा मिसबाह और उमर ने पांचवें विकेट के लिए 13 ओवर में 118 रन जोड़कर भी कीनिया की मेहनत पर पारी फेरा। बल्लेबाजी में भी अनुभव का अंतर साफ दिखाई दिया। कीनिया ने पावरप्ले के पहले 15 ओवर में 51 रन जोड़े लेकिन इस बीच दो विकेट भी गंवाए। इसके बाद पाकिस्तानी स्पिनरों के सामने उसके बल्लेबाज असहाय से दिखे। सेरेन वाल्टर्स (17) और मौरिस ओउमा (16) ने शोएब अख्तर के तूफान का डटकर मुकाबला किया।वाल्टर्स इस बीच रन आउट हो गए जबकि उमर गुल ने ओउमा को विकेटकीपर के हाथों कैच कराया। कीनियाई बल्लेबाज जब बेहद रक्षात्मक रवैया अपना रहे थे तब अफरीदी ने 19वें ओवर में खुद गेंद संभाली जिसके बाद विकेटों का पतन भी शुरू हुआ। कीनिया ने 13 रन के अंदर चार विकेट गंवाए जिसमें से तीन अफरीदी ने लिए। उन्होंने स्टीव टिकोलो (13) को बोल्ड करके उनका 33 गेंद का चला संघर्ष खत्म किया और उसके बाद तन्मय मिश्र और कप्तान जिमी कमांडे को भी पवेलियन भेजा। अफरीदी की लेग ब्रेक और गुगली का जादू आगे भी चला और उन्होंने थामस ओडोयो को पगबाधा आउट करने के बाद ओबुया की पारी का भी अंत किया जिसमें तीन चौके और इतने ही छक्के शामिल हैं। कीनिया की यह लगातार दूसरी हार है। पाकिस्तान की बल्लेबाजी में शुरुआत अनुकूल नहीं रही। पहले चार ओवर में उसका स्कोर छह रन था और सातवें ओवर तक उसके सलामी बल्लेबाज पवेलियन में थे। मोहम्मद हफीज आउट होने वाले पहले बल्लेबाज थे जिनका एलजाह ओटिनो की गेंद पर वाटर्स ने बाईं तरफ दौड़ लगाकर बेहतरीन कैच लपका। ओडोयो ने अगले ओवर में अहमद शहजाद को भी आउट कर दिया जिन्होंने 18 गेंद पर एक रन बनाया।यूनुस और कामरान ने टीम को संकट से उबारने का बीड़ा उठाया तथा एक दो रन लेकर पारी आगे बढ़ाई। कामरान अर्धशतक पूरा करने के तुरंत बाद नगोचे की गेंद पर बड़ा शाट खेलने से चूक गए और स्टंप आउट हुए। मिसबाह ने विश्व कप में छक्के से रन बनाने की शुरुआत की लेकिन टिकोलो की अगली गेंद पर ही उन्हें जीवनदान मिल गया जिसका उन्होंने पूरा फायदा उठाया। यूनुस और मिस्बाह जैसे अनुभवी बल्लेबाजों ने भी किसी तरह की जल्दबाजी नहीं दिखाई और विकेट पर टिके रहने को तरजीह दी। इस बीच 16 ओवर में केवल तीन बार गेंद ने सीमा रेखा के दर्शन किये जबकि यूनिस पवेलियन लौटे। वह टिकोलो की गेंद पर स्वीप करने के प्रयास में पगबाधा आउट हुए। पावरप्ले के बाद पाकिस्तानी बल्लेबाजी की असली ताकत देखने को मिली। ओडियाम्बो के पहले ओवर में मिस्बाह ने छक्का जड़ा तो उमर ने ओटिनो के अगले ओवर में चार चौके लगाए। उन्होंने इसके बाद कमांडे की गेंद पर लगातार चौका और छक्का जमाया। मिसबाह इसी ओवर में सीमा रेखा पर लपके गए। ओडोयो ने 49वें ओवर में लगातार गेंद पर उमर और शाहिद अफरीदी को आउट किया लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी। कीनिया के लिए अनुभवी थामस ओडोयो ने 41 रन देकर तीन विकेट लिए।
-------------------------
 स्कोर कार्ड
पाकिस्तान                                     रन    गेंद  4          6
हफीज कै वाटर्स बो ओटिनो              9          20        1          0
शेहजाद कै कमांडे बो ओडोयो       1          18        0          0
कामरान स्टंप्स ओउमा बो न्गोचे    55        67        5          0
यूनुस पगबाधा बो टिकोलो               50        67        2          0
मिस्बा कै ओटिनो बो कमांडे             65        69        1          2
उमर कै ओबुया बो ओडोयो          71        52        8          1
अफरीदी पगबाधा बो ओडोयो             7          4          1          0
रज्जाक नाबाद                                  4          4          0          0
रहमान   नाबाद                            2          2          0          0
अतिरिक्त : 46, कुल :  50 ओवर में 7 विकेट पर 317 रन। 
विकेटपतन : 1-11 (मो. हफीज, 5.3), 2-12 (अहमद शेहजाद, 6.5), 3-110 (कामरान अकमल, 24.4), 4-155 (यूनुस खान, 33.4), 5-273 (मिस्बा-उल-हक, 46.5), 6-289 (उमर अकमल, 48.2), 7-289 (शाहिद अफरीदी, 48.3).
गेंदबाजी : थामस ओडोयो 6-2-27-1, एलिजाह ओटिनो 9-1-49-1, नेहेमियाह ओधियाम्बो 7-0-64-0, शेम न्गोचे 10-0-46-1, जिम्मी कमांडे 7-0-64-1, स्टीव टिकोलो 9-0-44-1, कोलिंस ओबुया 1-0-5-0.
केन्या                      रन    गेंद   4          6
ओउमा कै कामरान बो गुल        16        37        1          0
वाटर्स रनआउट                            17        31        2          0
ओबुया कै शेहजाद बो अफरीदी     47        58        3          3
टिकोलो बो अफरीदी                        13        33        1          0
तन्मय पगबाधा बो अफरीदी        6          16        1          0
पटेल कै उमर बो हफीज              0          6          0          0
कमांडे पगबाधा बो अफरीदी         2          3          0          0
ओडोयो पगबाधा बो अफरीदी           0          8          0          0
ओधियाम्बो रनआउट                       0          6          0          0
न्गोचे बो गुल                                  0          1          0          0
ओटिनो नाबाद                                 0          1          0          0
अतिरिक्त : 11, कुल :  33.1 ओवर में 112 रन (आलआउट)। 
विकेटपतन : 1-37 (वाटर्स, 9.1), 2-43 (ओउमा, 12.2), 3-73 (टिकोलो, 22.2), 4-79 (तन्मय मिश्रा, 26.3), 5-85 (राकेप पटेल, 27.5), 6-87 (जिम्मी कमांडे, 28.3), 7-101 (थामस ओडोयो, 30.5), 8-112 (कोलिंस ओबुया, 32.1), 9-112 (ओधियाम्बो, 32.5), 10-112 (एलिजाह न्गोचे, 33.1). 
गेंदबाजी : शोएब अख्तर 5-1-10-0, अब्दुल रज्जाक 5-1-23-0, उमर गुल 4.1-0-12-2, अब्दुर रहमान 7-1-18-0, शाहिद अफरीदी 8-3-16-5, मो. हफीज 4-1-26-1.
------------------------------------
कोटला में गूंजेगा बैंड बाजे का शोर
नई दिल्ली. इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में जहां चीयर लीडर्स के जलवों की धूम रहती थी वहीं क्रिकेट विश्व कप में राजधानी के फिरोजशाह कोटला मैदान में मैचों के दौरान बैंड बाजे का शोर गूंजेगा।
 आमतौर पर इस तरह के बैंड बाजे वाले शादियों या अन्य समारोहों में देखे जाते हैं जिनके ढोल की धूम पर या तो बाराती नाचते हैं या फिर युवा वर्ग झूमता है। आईपीएल मैचों के दौरान स्टेडियम के चार हिस्सों में चार-चार चीयर गर्ल्स अपने जलवों से दर्शकों का मनोरंजन करती थी लेकिन विश्व कप में दर्शकों के मनोरंजन के लिए ठेठ भारतीय शैली में अनूठा तरीका ढूंढ़ा गया है और बैंड बाजे वालों को सीधे स्टेडियम पहुंचा दिया गया है। कोटला में चार-चार के ग्रुप में बैंड बाजे वाले स्टेडियम के चार हिस्सों में बने मंचों पर मौजूद रहेंगे और हर ओवर के बाद अपने जोरदार धमाल से दर्शकों का मनोरंजन करेंगे। वेस्टइंडीज में 2007 में हुए पिछले विश्वकप में आयोजकों ने स्थानीय लोगों को उनकी पसंद के हिसाब से मैचों में बाजे इत्यादि ले जाने से मना कर दिया था जिससे कैरेबियाई विश्व कप पर कै का रंग नहीं चढ़ पाया था।  लेकिन मौजूदा विश्व कप में एक अन्य सहमेजबान श्रीलंका ने भी दर्शकों को मैदानों में खींचने के लिए स्टेडियम में बैंड बाजे ले जाने की छूट दे दी है ताकि दर्शक खुलकर मैचों का मजा उठा सकें।
दक्षिण अफ्रीका में गत वर्ष हुए फुटबाल विश्वकप में कानफोडू बाजे वुवुजेला ने पूरी दुनिया को आकर्षित किया था और वुवुजेला विश्वकप फुटबाल की सफलता का एक सबसे बडा कारण बन गया था। क्रिकेट विश्व कप में अभी तक स्टेडियम में इस तरह के प्रयोग नहीं दिखाई दे रहे लेकिन बैंड बाजे की यह शुरुआत विश्वकप में नया रंग भर सकती है। आईपीएल में भी दर्शक गीत, संगीत और नृत्य का भरपूर लुत्फ उठाते थे। ठीक उसी तरह बैंड बाजों की थाप पर कोटला में दर्शक हर चौके छक्के पर थिरकने के लिए मजबूर हो जाएंगे। कोटला में जो बैंड बाजे वाले बुलाए गए हैं वे फरीदाबाद से हैं और इनमें शामिल चार सदस्यों सुनील, विजय डान, राहुल और राजा ने बताया कि उनके लिए यह पहला मौका है जब वह क्रिकेट मैच में इस तरह का प्रदर्शन करेंगे। उन्होंने कहा कि शादी-ब्याह में उन्होंने काफी धूमधडाका किया है लेकिन क्रिकेट मैदान में इस तरह का धूमधड़ाका करने का यह पहला मौका होगा।
 ये बैंड बाजे वाले कोटला में अगले तीन मैचों में भी इसी तरह का प्रदर्शन करेंगे।
---------------------------------------------
पोंटिंग के खिलाफ होगी अनुशासनात्मक कार्रवाई
मुंबई. आस्ट्रेलियाई कप्तान रिकी पोंटिंग को ड्रेसिंग रूम में टीवी पर गुस्सा निकालना भारी पड़ सकता है। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) इस मामले को लेकर पोंटिंग पर आरोप तय कर अनुशासनात्मक कार्रवाई करेगी।
रिकी पोंटिंग
 पोंटिंग ने गत सोमवार को अहमदाबाद में जिम्बाब्वे के खिलाफ विश्व कप मैच में रन आउट होने के बाद गुस्से में आकर टीम के ड्रेसिंग रूम में टेलीविजन सेट को नुकसान पहुंचा दिया था। गुजरात क्रिकेट संघ (जीसीए) ने इस मामले की रिपोर्ट भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) को भेजी थी जिसने अपनी रिपोर्ट आईसीसी को भेजी थी। आईसीसी के प्रवक्ता ने कहा कि पोंटिंग के खिलाफ आरोप तय किया गया है। प्रवक्ता ने कहा कि आईसीसी आस्ट्रेलियाई टीम के अगले मैच के लिए बुधवार को नागपुर पहुंचने का इंतजार कर रही है ताकि इस बात की जानकारी पोंटिंग को दी जा सके।  उन्होंने कहा कि हमें पोंटिंग से बात करने की जरूरत है क्योंकि हम नहीं जानते कि उन्हें इस मामले में क्या कहना है। प्रवक्ता ने बताया कि जीसीए की रिपोर्ट बीसीसीआई ने मंगलवार को आईसीसी को भेज दी थी।  आस्ट्रेलियाई कप्तान जिम्बाब्वे के खिलाफ मैच के दौरान जब दूसरा रन लेने की कोशिश कर रहे थे तो क्रिस एमपोफू  के मिडविकेट बाउंड्री से फेंके गए सीधे थ्रो से वह   रनआउट हो गए।
 

No comments:

Post a Comment