About Me

My photo
"खेल सिर्फ चरित्र का निर्माण ही नहीं करते हैं, वे इसे प्रकट भी करते हैं." (“Sports do not build character. They reveal it.”) shankar.chandraker@gmail.com ................................................................................................................................................. Raipur(Chhattigarh) India

Saturday 26 February 2011

विश्व कप : पाकिस्तान की रोमांचक जीत


श्रीलंका को 11 रन से हराया, दोनों टीमों के बीच हुआ कांटे का मुकाबला
मिस्बाह उल हक
कोलंबो. मिस्बाह उल हक (नाबाद 83) और अनुभवी यूनुस खान (72) के विश्व कप में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के बाद कप्तान शाहिद अफरीदी (34/4) की एक और कसी हुई गेंदबाजी के दम पर पाकिस्तान ने टूर्नामेंट के रोमांचक 10वें मुकाबले में ग्रुप-ए में मेजबान श्रीलंका को 11 रनों से हराकर लगातार दूसरी जीत दर्ज की।
मिस्बाह का विश्व कप में नायाब आगाज जारी है और उन्होंने अपने दूसरे मैच में भी नाबाद अर्धशतक लगाया। इससे पूर्व केन्या के खिलाफ भी नाबाद अर्धशतकीय पारी खेली थी। मिस्बाह ने 91गेंदों में छह चौके के साथ 83रन की नाबाद पारी खेली। यूनुस ने भी विश्व कप में अपनी यादगार पारी खेली। दोनों बल्लेबाजों के सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के कारण पाकिस्तान 50ओवर में सात विकेट पर 277 रन बनाने में सफल रहा। जवाब में श्रीलंका चमारा सिल्वा (57) और कप्तान कुमार संगकारा (49) की पारियों के बावजूद लक्ष्य से दूर रह गए और 50ओवर में नौ विकेट पर 266रन ही बना सका। अफरीदी ने पिछले मैच में केन्या के खिलाफ अपना सर्वश्रेष्ठ खेल दिखाते हुए पांच विकेट झटके थे।
श्रीलंकाई टीम ने 278रन के लक्ष्य जवाब में सलामी बल्लेबाजों उपल थरंगा (33) और तिलकरत्ने दिलशान (41) ने सधी हुई शुरुआत दी और तथा पहले विकेट के लिए 14.2ओवर में 76रन की साझेदारी निभाई। मोहम्मद हाफिज की गेंद पर अफरीदी ने थरंगा को लपककर पाक को पहली सफलता दिलाई। इसके बाद दिलशान,महेला जयवर्धने (2) और थिलन समरवीरा (1) भी चलते बने। बल्ले से असफल रहे शाहिद अफरीदी ने आज भी शानदार गेंदबाजी किया और दिलशान को बोल्ड करने के बाद समरवीरा को स्टंप आउट कराया। मात्र 96रन पर पर चार विकेट गंवाने के बाद मुश्किल में फंसी श्रीलंका टीम को संगकाराऔर सिल्वाने मिलकर जूझारूपारी खेली लेकिन दोनों ने काफी धीमी बल्लेबाजी की जिससे रिक्वायर्ड रन रेट आठ के ऊपर पहुंच गया।
दोनों ने 98गेंदों में 73रन की साझेदारी निभाई। रेफरलप्रणाली से अपना विकेट बचाने के बाद संगकारा हवाई शाट मारने के प्रयास में अफरीदी की गेंद पर लपके गए। संगकाराके रूप में अफरीदीने विकेटों की संख्या 300तक पहुंचा दिया। अफरीदी ने एंजेलो मैथ्यूज (18) के रूप में अपना चौथा विकेट झटका। अंतिम ओवरों में सिल्वाऔर पुछल्ले बल्लेबाजों ने कुछ अच्छे शाट लगाकर मैच में रोमांच ला दिया था। लेकिन अख्तर ने थिषारा परेरा (8) को बोल्ड कर लंका की वापसी की राह पर रोड़ा डाल दिया। इसके अगले ओवर में सिल्वा (57) को अब्दुरर हमान ने स्टंप आउट कराया। इसके बाद पुछल्लों ने काफी प्रयास किया लेकिन लक्ष्य से 11 रन दूर रहे।
इससे पूर्व पाक का टास जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला उस समय गलत साबित हुआ जब सलामी बल्लेबाज अहमद शहजाद (13) थिषारा परेरा की गेंद पर विकेटकीपर कुमार संगकाराके हाथों लपके गए। 28रन पर मिले झटके के बाद मोहम्मद हाफिज (32) और कामरान अकमल (39) दूसरे विकेट के लिए 48रन की साझेदारी कर टीम का स्कोर आगे ले जा रहे थे कि इसी बीच तेजी से रन बना रहे हाफिज रन आउट हो गए। उन्होंने 31 गेंदों की पारी में चार चौके व एक छक्का लगाया। कामरान अकमल (39 रन, 48गेंद)  के रूप में टीम का तीसरा विकेट गिरा। कामरान रंगना हेराथकी गेंद पर आगे बढ़कर मारने के प्रयास में स्टंपिंग हो गए। तीन विकेट गिरने के बाद यूनुस और मिसबाहने चौथे विकेट के लिए 108रन की शतकीय साझेदारी कर स्कोर 200के पार पहुंचाया। इस बीच दोनों बल्लेबाजों ने अपना अर्धशतक पूरा किया। यूनुस ने 76गेंदों में चार चौके के साथ 72रन बनाए और हेराथ की गेंद पर जयवर्धने के हाथों लपके गए। यूनुस की विश्व कप में खेले 10मैचों में से यह सबसे बेहतरीन पारी रही और उन्होंने करियरका 40वांऔर विश्व कप का दूसरा पचासा लगाया। केन्या के खिलाफ मुकाबले में मैन आफ दमैच रहे उमर अकमलइस बार अपना जलवा नहीं बिखेर सके और 10रन बनाकर मुरलीधरन की गेंद पर सीमारेखा के पास दिलशान द्वारा बेहतरीन अंदाज में लपके गए।
------------------------------------
स्कोर कार्ड
पाकिस्तान                         रन    गेंद    4          6
शेहजाद कै संगकारा बो परेरा          13        23        2          0
हफीज रनआउट                     32        31        4          1
कामरान स्टंप्स संगकारा बो हेराथ      39        48        5          0
यूनुस कै जयवर्धने बो हेराथ          72        76        4          0
मिस्बाह नाबाद                     83        91        6          0
उमर कै दिलशान बो मुरलीधरन       10        15        1          0
अफरीदी कै दिलशान बो मैथ्यूज      16        12        3          0
रज्जाक कै कैपुगेदेरा बो परेरा        3          4          0          0
अतिरिक्त : 9, कुल : 50 ओवर में 7 विकेट पर 277 रन। 
विकेटपतन : 1-28 (अहमद शेहजाद, 5.3), 2-76 (मो. हफीज, 13.1), 3-105 (कामरान अकमल, 20.2), 4-213 (यूनुस खान, 40.5), 5-238 (उमर अकमल, 45.3), 6-267 (शाहिद अफरीदी, 48.5), 7-277 (अब्दुर रज्जाक, 49.6).  
गेंदबाजी : नुवान कुलसेकरा 10-1-64-0, तिषारा परेरा 9-0-62-2, एंजेलो मैथ्यूज 10-0-56-1, मुरलीधरन 10-0-35-1, रंगना हेराथ 10-0-46-2, तिलकरत्ने दिलशान 1-0-10-0.
श्रीलंका                       रन    गेंद    4          6
थरंगा कै अफरीदी बो हफीज         33        43        6          0
दिलशान बो अफरीदी               41        55        5          0
संगकारा कै शेहजाद बो अफरीदी     49        61        2          1
जयवर्धने बो अख्तर                2          10        0          0
समरवीरा स्टंप्स कामरान बो अफरीदी 1          4          0          0
सिल्वा स्टंप्स कामरान बो रहमान   57        78        5          0
मैथ्यूज कै शेहजाद बो अफरीदी     17        19        2          0
परेरा बो अख्तर                  8          6          1          0
कुलसेकरा कै उमर बो गुल        24        14        2          1
हेराथ नाबाद                   4          10        0          0
मुरलीधरन   नाबाद             0          0          0          0
अतिरिक्त : 29, कुल :  50 ओवर में 9 विकेट पर 266 रन। 
विकेटपतन : 1-76 (थरंगा, 14.2), 2-88 (तिलकरत्ने दिलशान, 17.3), 3-95 (महेला जयवर्धने, 20.2), 4-96 (समरवीरा, 21.2), 5-169 (कुमार संगकारा, 37.4), 6-208 (एंजेलो मैथ्यूज, 43.4), 7-232 (तिषारा परेरा, 45.5), 8-233 (सिल्वा, 46.0), 9-265 (कुलसेकरा, 49.5).  
गेंदबाजी : शोएब अख्तर 10-0-42-2, अब्दुल रज्जाक 5-1-23-0, उमर गुल 9-0-60-1, मोहम्मद हफीज 6-0-33-1, शाहिद अफरीदी 10-0-34-4, अब्दुर रहमान 10-1-63-1.
------------------------------------------------------
चोटिल ब्रावो विश्व कप से बाहर
नई दिल्ली. वेस्टइंडीज के दिग्गज आलराउंडर ड्वेन ब्रावो घुटने की चोट के कारण क्रिकेट विश्व कप से बाहर हो गए हैं। ब्रावो चोट के कारण विश्व कप से बाहर होने वाले तीसरे कैरेबियाई खिलाड़ी हैं।
 ब्रावो को गुरवार को यहां फिरोजशाह कोटला मैदान पर दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मैच में गेंदबाजी करते समय चोट लगी थी। टीम के प्रवक्ता ने कहा कि ब्रावो विश्व कप से बाहर हो गए हैं। एमआरआई स्कैन से पता चला है कि उनके बाएं घुटने की मांसपेशी को भारी नुकसान पहुंचा है। प्रवक्ता ने कहा कि ब्रावो कम से कम चार हफ्ते तक क्रिकेट नहीं खेल पाएंगे। उनके स्थान पर किसी अन्य खिलाडी के नाम को मंजूरी के लिए अंतरराष्टÑीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) को भेजा जाएगा। ब्रावो जब दक्षिण अफ्रीका की पारी का 14वां और अपना तीसरा ओवर डाल रहे थे तभी गेंद फेंकने के साथ ही उनका पैर फिसल गया और वह विकेट पर गिर पडेÞ। गिरने के साथ ही ब्रावो पीड़ा से कराह उठे।  हालांकि उन्हें विकेट पर ही कुछ इलाज दिया गया लेकिन उनकी स्थिति ऐसी नहीं थी कि वह चल पाते। आखिर ब्रावो दो साथी खिलाड़ियों के कंधों का सहारा लेकर किसी तरह मैदान से बाहर आए। ब्रावो इसके बाद मैदान पर नहीं उतरे और वेस्टइंडीज को सात विकेट से करारी हार का सामना करना पड़ा।  ब्रावो विश्व कप से बाहर होने वाले तीसरे कैरेबियाई खिलाड़ी हैं। इससे पहले ओपनर एड्रियन बराथ और विकेटकीपर कार्लटन बा भी चोटों के कारण विश्व कप से बाहर हो चुके हैं।

No comments:

Post a Comment