About Me

My photo
"खेल सिर्फ चरित्र का निर्माण ही नहीं करते हैं, वे इसे प्रकट भी करते हैं." (“Sports do not build character. They reveal it.”) shankar.chandraker@gmail.com ................................................................................................................................................. Raipur(Chhattigarh) India

Thursday 17 February 2011

आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप का रंगारंग उद्घाटन


ढाका. क्रिकेट और आसमां के सितारों का आज बंगबंधु स्टेडियम में जगमगाती आतिशबाजी, शानदार लेजर शो और सांस्कृतिक कार्यक्रम के बीच विश्व कप के अब तक के सबसे भव्य उद्घाटन समारोह में मिलन हो गया।
 बंगबंधु स्टेडियम में यह कोई डे-नाइट मैच नहीं था बल्कि 10वें विश्व कप का भव्य उद्घाटन समारोह था। आसमान में जहां आतिशबाजी की जगमगाहट दिखाई दे रही थीं वहीं क्रिकेट के मैदान के सितारे स्टेडियम में अपनी छटा बिखेर रहे थे। विश्व कप के इतिहास में यह ऐसा उद्घाटन समारोह था जिसे लंबे समय तक याद रखा जाएगा। बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना के  विश्वकप के औपचारिक उद्घाटन की घोषणा करते ही क्रिकेट के इस महाकुंभ का शंखनाद हो गया।
उद्घाटन समारोह की शुरुआत विश्व कप के शुभंकर ‘स्टंपी’ के एक रिक्शे में स्टेडियम में प्रवेश करने के साथ शुरू हुई। उसके बाद सभी 14 टीमों के कप्तानों ने रिक्शे में ही स्टेडियम में प्रवेश किया।  कप्तानों के स्टेडियम में प्रवेश करने के बाद रंगारंग कार्यक्रम का सिलसिला भव्य आतिशबाजी के साथ शुरू हो गया। भारतीय गायक सोनू निगम ने अंग्रेजी ‘राइज अप फोर ग्लोरी’ प्रस्तुत कर समां बांध दिया।  सोनू निगम का गीत खत्म होते ही आसमान पर इलेक्ट्रानिक पतंगों को भव्य नजारा देखने को मिला।  यह नजारा खत्म ही हुआ था कि बंगबंधु स्टेडियम के साथ लगी विशाल इमारत के बाहरी हिस्से पर लगाई गई विशालकाय एलईडी स्क्रीन पर कलाकारों ने रस्सियों से झूलते हुए पहली बार हवा में क्रिकेट मैच खेला।
बांग्ला कलाकरों ने गाया स्वागत गीत
बांग्लादेश के कलाकरों ने फ्यूजन की मधुर धुनों पर बांग्लादेश का स्वागबत गीत गया जिस पर वहां मौजूद सभी दर्शक झूमने लगे।
mascot 'stumpy'

आगे-आगे ‘स्टंपी’
कप्तानों के मैदान पर पदापर्ण से पहले वर्ल्डकप के शुभंकर नन्हें हाथी "स्टंपी को रिक्शे मे बिठाकर मैदान में घुमाया गया।" स्टंपी की झलक पाने को बच्चों में काफी उत्साह देखा गया।
खालिदा ने की उद्घाटन की घोषणा

Prime Minister Khalida Z
शेख हसीना ने 27 हजार दर्शकों से खचाखच भरे बंगबंधु स्टेडियम में टूर्नामेंट को शुरू करने से पहले अपने संबोधन में कहा कि मैं अंतरराष्टÑीय क्रिकेट परिषद का बंगलादेश को उद्घाटन समारोह के लिए चुनने पर हृदय से धन्यवाद देती हूं। बांग्लादेश उद्घाटन समारोह के साथ-साथ आठ विश्व मैचों का भी आयोजन करेगा।
 प्रधानमंत्री ने कहा कि मैं इसके साथ ही आयोजकों को आईसीसी विश्व कप के सफल आयोजन के लिए भी शुभकामनाएं देती हूं। मैं अपने देश के क्रिकेटप्रेमियों के उत्साह और सहयोग के लिए उन्हें बधाई देती हूं। साथ ही मैं विश्व कप में हिस्सा ले रहे खिलाड़ियों को शुभकामनाएं देती हूं कि वे इस टूर्नामेंट को यादगार बनाएं। शेख हसीना से पहले आईसीसी के अध्यक्ष शरद पवार ने सभी 14 टीमों के कप्तानों और खिलाड़ियों का स्वागत करते हुए कहा कि यह भारतीय उपमहाद्वीप के लिए एक यादगार दिन है। 
भारतीय उपमहाद्वीप के लिए ऐतिहासिक दिन : पवार
 
ICC President Sharad Pawar
अंतरराष्टÑीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के अध्यक्ष और भारत के कृषि मंत्री शरद पवार ने 10वें विश्व कप के उद्घाटन समारोह में आज कहा कि भारतीय उपमहाद्वीप के लिए यह एक ऐतिहासिक दिन है और ऐसा भव्य उद्घाटन समारोह उन्होंने पहले कभी नहीं देखा। पवार ने बंगबंधु स्टेडियम में उद्घाटन समारोह में अपने संबोधन की शुरुआत अंग्रेजी में की और साथ ही उन्होंने बांग्ला भाषा में भी इन पंक्तियों को बोला।
पवार ने बांग्लादेश को एक खूबसूरत देश बताते हुए टूर्नामेंट में हिस्सा ले रहे 14 टीमों को अपनी शुभकामनाएं दी। आईसीसी अध्यक्ष ने कहा कि एकदिवसीय विश्व कप आईसीसी का फ्लैगशिप टूर्नामेंट है जिसमें खेलना हर खिलाड़ी का सपना होता है। भारतीय उपमहाद्वीप के लिए यह एक ऐतिहासिक दिन है। हमने इससे पहले भी 1987 और 1996 में विश्व कप की मेजबानी की थी लेकिन बांग्लादेश पहली बार इस मेजबानी में साथ जुड़ा है। पवार ने कहा कि मुझे उम्मीद है कि यह विश्व कप टूर्नामेंट के इतिहास का सबसे यादगार विश्व कप होगा। इसका उद्घाटन इतने भव्य स्तर पर हो रहा है कि यह विश्व कप का अब तक का सबसे भव्य उद्घाटन समारोह बन गया। आईसीसी अध्यक्ष ने कहा कि 19 फरवरी को सहमेजबानों बांग्लादेश और भारत के बीच उद्घाटन मैच से टूर्नामेंट की शुरुआत हो जाएगी और मुझे उम्मीद है कि दो अप्रैल को होने वाले फाइनल तक 14 टीमों के खिलाड़ी रोमांचक क्रिकेट से क्रिकेटप्रेमियों का मन मोह लेंगे। पवार ने बंग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना, भारत के प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और श्रीलंका के राष्टÑपति महिन्दा राजपक्षे तथा तीनों क्रिकेट बोर्डों के अध्यक्षों को धन्यवाद दिया।
हवा में खेला गया क्रिकेट मैच
air in cricket show
 10वें विश्व कप का उद्घाटन मैच होने में अभी दो दिन बाकी हैं लेकिन गुरुवार को टूर्नामेंट के उद्घाटन समारोह में एक हवाई मैच खेला गया, जिसने सबको सम्मोहित कर दिया। बंगबंधु स्टेडियम से लगी बांग्लादेश की सबसे ऊंची इमारतों में से एक इमारत पर यह मैच खेला गया। यह मैच 200 से 300 फुट ऊंचाई पर खेला जा रहा था। रस्सियों से बंधे कलाकारों ने हवा में झूलते हुए इमारत के बाहरी हिस्से पर लगी विशालकाय एलईडी स्क्रीन पर बनी पिच पर पूरे एक ओवर क्रिकेट खेली। इसमें न   केवल शाट लगे, गेंदबाजी हुई, कैच भी हुआ और छक्का भी लगा।  स्टेडियम में मौजूद 27 हजार दर्शक, बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना, आईसीसी अध्यक्ष शरद पवार, क्रिकेट बोर्डों के सदस्य और सभी टीमों के खिलाडी मंत्रमुग्ध होकर इस हवाई क्रिकेट का नजारा देख रहे थे।
-----------
रिक्शे की सवारी कर उद्घाटन समारोह 
में पहुंचे 14 कप्तान

All team captains are participates in ICC World Cup 2011.
  ढाका. क्रिकेट विश्व कप में हिस्सा ले रही 14 टीमों के कप्तानों के लिए टूर्नामेंट के उद्घाटन समारोह का दिन आज यादगार बन गया। उनके लिए उद्घाटन समारोह के मुख्य स्थल बंगबंधु नेशनल स्टेडियम पहुंचने का अनुभव ऐसा रहा जिसे वह कभी भूल नहीं पाएंगे।
Indian Captain MS Dhoni

 आमतौर पर कारों और लक्जरी बसों से क्रिकेट स्टेडियम या अपने होटल पहुंचने वाले क्रिकेट के इन दिग्गज सितारों को उद्घाटन समारोह में आम आदमी की सवारी रिक्शे में बैठकर बंगबंधु स्टेडियम लाया गया।  गत तीन बार के चैंपियन आस्ट्रेलिया के कप्तान रिकी पोंटिंग सबसे पहले स्टेडियम पहुंचे। हर कप्तान के साथ रिक्शे में एक बच्चे को यादगार मौका मिला। टीमों के कप्तान जब स्टेडियम में प्रवेश कर रहे थे तो पूरा स्टेडियम विश्व कप के थीम गीत ‘दे घुमा के’ से गूंज रहा था। आस्ट्रेलियाई कप्तान से पहले विश्वकप के शुभंकर ‘स्टंपी’ यानि छोटे हाथी ने रिक्शे में बैठकर स्टेडियम में एंट्री मारी। उसके बाद तो 14 टीमों के कप्तानों का स्टेडियम में पहुंचने का सिलसिला शुरू हो गया।  पोंटिंग के बाद कनाडा के कप्तान आशीष बगई,  इंग्लैंड के कप्तान एंड्रयू स्ट्रास, आयरलैंड के कप्तान विलियम पोर्टरफील्ड,  केन्या के जिमी कमांडे, हालैंड के पीटर बोरेन, न्यूजीलैंड के डेनियल वेट्टोरी, पाकिस्तान के शाहिद आफरीदी, दक्षिण अफ्रीका के ग्रीम स्मिथ,  वेस्टइंडीज के डेरेन सैमी और जिम्बाब्वे के एल्टन चिगुम्बुरा ने स्टेडयम में प्रवेश किया।  भारतीय कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी के स्टेडियम में प्रवेश करते ही पूरा स्टेडियम तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा। धोनी के बाद श्रीलंकाई कप्तान कुमार संगकारा और अंत में उद्घाटन समारोह के मेजबान बांग्लादेश के कप्तान शाकिब अल हसन ने भी तालियों की गूंज के बीच स्टेडियम में प्रवेश किया।  इन कप्तानों के लिए रिक्शे की सवारी एक ऐसा अनूठा अनुभव था जिसे वह कभी नहीं भूल पाएंगे।

No comments:

Post a Comment