About Me

My photo
"खेल सिर्फ चरित्र का निर्माण ही नहीं करते हैं, वे इसे प्रकट भी करते हैं." (“Sports do not build character. They reveal it.”) shankar.chandraker@gmail.com ................................................................................................................................................. Raipur(Chhattigarh) India

Thursday 24 February 2011

विश्व कप : द. अफ्रीका की शानदार जीत


वेस्टइंडीज को सात विकेट से हराया, कैरेबियन टीम का निराशाजनक प्रदर्शन
एबी डीविलियर्स
नई दिल्ली. पाकिस्तान में जन्मे दक्षिण अफ्रीका के लेग स्पिनर इमरान ताहिर की जादुई गेंदे और डेन स्टेन की कहर बरपाती गेंदों के बाद एबी डीविलियर्स (नाबाद 107) के शतकीय पराक्रम से दक्षिण अफ्रीका ने आज रात यहां फिरोजशाह कोटला मैदान में वेस्टइंडीज को ग्रुप-बी मैच में सात विकेट से रौंदकर क्रिकेट विश्व कप में विजयी आगाज किया।
 ताहिर ने अपने पर्दापण वनडे में बेमिसाल गेंदबाजी करते हुए 41 रन पर चार विकेट और अनुभवी स्टेन ने 24 रन पर तीन विकेट लेकर वेस्टइंडीज का 47.3 ओवर में 222 रनों पर पुलिंदा बांध दिया। दक्षिण अफ्रीका को जीत हासिल करने में किसी तरह की परेशानी का सामना नहीं करना पडा और उसने डीविलियर्स के विश्वकप के दूसरे और ओवरआल दसवें शतक की बदौलत 42.5 ओवर में तीन विकेट पर 223 रन बनाकर एकतरफा जीत हासिल कर ली। डीविलियर्स ने 97 गेंदों में आठ चौकों और दो छक्कों की मदद से अपना शतक पूरा किया और उन्होंने कप्तान ग्रीम स्मिथ (45) के साथ तीसरे विकेट के लिए 119 रन की मैच विजयी साझेदारी की। डीविलियर्स 105 गेंदों में आठ चौकों और दो छक्कों की मदद से 107 रन बनाकर अविजित लौटे। आसान लक्ष्य के सामने हालांकि दक्षिण अफ्रीका की शुरुआत अच्छी नहीं रही और उसने 20 तक पहुंचते पहुंचते ओपनर हाशिम अमला (14) और जेक्स कैलिस (चार) . को गंवा दिया। कैमर रोश की गेंद पर अमला का कैच विकेटकीपर डेवोन थामस ने अपने बार्इं तरफ गोता लगाते हुए बेहतरीन ढंग से लपका।  कैलिस स्पिनर सुलेमान बेन की गेंद पर डेरेन सैमी को कैच थमा बैठे। वेस्टइंडीज की यह दो विकेट जल्दी हासिल करने की खुशी स्मिथ और डीविलिसयर्स के बीच बेहतरीन शतकीय साझेदारी के कारण काफूर हो गई। दोनों बल्लेबाजों ने बिना कोई हडबडाहट दिखाए आसानी से रन बटोरे।  स्मिथ के मुकाबले डीविलियर्स कहीं ज्यादा आक्रामक अंदाज में खेले और उन्होंने दक्षिण अफ्र ीका की जीत को और आसान बना दिया1 दक्षिण अफ्रीका का स्कोर 139 रन तक पहुंचा था कि कीरोन पोलार्ड ने स्मिथ को बोल्ड कर दिया। स्मिथ ने 78 गेंदों मे ंदो चौकों के सहारे 45 रन बनाए।  डीविलियर्स ने अपने कप्तान के आउट होने के बाद जेपी डुमिनी के साथ चौथे विकेट के लिए नाबाद 84 रन जोड़कर दक्षिण अफ्रीका को जीत की मंजिल पर पहुंचा दिया। दक्षिण अफ्र ीका का स्कोर जब 38 ओवर में तीन विकेट पर 199 रन पहुंचा था तब बारिश के कारण कुछ मिनटों के लिए खेल रुका। उस समय डीविलियर्स 97 रन पर नाबाद थे।  बारिश जल्दी ही थमी और खेल शुरू होने के बाद डीविलियर्स ने पहले शतक पूरा किया और फिर डुमिनी के साथ जीत की औपचारिकता भी पूरी कर दी। डुमिनी को उनके शानदार प्रदर्शन के लिए मैन आफ द मैच चुना गया।  इससे पहले दक्षिण अफ्रीका ने टास जीतकर पहले क्षेत्ररक्षण करने का फैसला किया और इस मैच में तीन स्पिनरों के साथ उतरने का दांव खेला जो अंत में बेहद कारगर साबित हुआ।
ताहिर ने अपने वनडे करियर का स्वप्निल आगाज करते हुए वेस्टइंडीज के टाप और मध्यक्रम की कमर तोड दी।  रही सही कसर स्टेन ने निचले क्रम में तीन विकेट निकालकर पूरी कर दी। वेस्टइंडीज के लिए दो साझेदारियों को छोडकर इस मैच में कुछ भी अच्छा नहीं रहा और उसके आखिरी पांच विकेट तो मात्र 13 रन जोडकर गिर गए। ओपनर डेवोन स्मिथ (36) और डैरेन ब्रावो (73) ने दूसरे विकेट के लिए 111 रन जोड़े जबकि शिवनारायण चंद्रपाल (31) और ड्वेन ब्रावो (40) ने पांचवें विकेट के लिए 58 रन की साझेदारी की। डैरेन ने 82 गेंदों की अपनी पारी में आठ चौके और एक छक्का लगाया जबकि स्मिथ ने 58 गेंदों में तीन चौके लगाए। चंद्रपाल ने 51 गेंदों की अपनी पारी में एक चौका और एक छक्का लगाया।  ड्वेन 35 गेंदों में एक चौका और तीन छक्के लगाने के बाद रनआउट हुए। वेस्टइंडीज को सबसे बड़ा झटका उसके सबसे खतरनाक बल्लेबाज कीरोन पोलार्ड के पगबाधा होने पर लगा। पोलार्ड अपना खाता भी नहीं खोल पाए।
मैच में रैफरल सिस्टम की दिलचस्प दास्तां रही। दक्षिण अफ्रीका के कप्तान ग्रीम स्मिथ ने मैच का पहला ओवर आफ स्पिनर योहान बोथा को थमा दिया। बोथा ने तीसरी ही गेंद पर खतरनाक ओपनर क्रिस गेल को एकमात्र स्लिप में जैक्स कैलिस के हाथों कैच करा दिया।  गेल सिर्फ दो रन ही बना सके1 इस ओवर की आखिरी गेंद पर डेरेन के खिलाफ पगबाधा की जोरदार अपील हुई लेकिन अंपायर ने यह अपील ठुकरा दी1 दक्षिण अफ्र ीका ने रैफरल मांगा मगर अंपायर का पैसला कायम रहा। डेरेन को आखिर जब बोथा ने ही पगबाधा किया तो इस बार ब्रावो ने रैफरल मांगा मगर तीसरे अंपायर ने मैदानी अंपायर के पगबाधा फैसले को बरकरार रखा।
 डेरेन ने इस दौरान शानदार और तेज अर्धशतकीय पारी खेली और जब तक वह क्रीज पर थे वेस्टइंडीज एक अच्छे स्कोर की तरफ बढ़ता दिख रहा था लेकिन उनके आउट होने के बाद वेस्टइंडीज की टीम दबाव में आ गई।  बोथा के डेरेन को आउट करने के चार रन बाद ही ताहिर ने डेवोन स्मिथ को अपनी ही गेंद पर कैच कर लिया।
 ताहिर ने फिर रामनरेश सरवन (दो) को भी पगबाधा किया। इस बार सरवन ने रैफरल मांगा लेकिन मैदानी अंपायर का फैसला बरकरार रहा। वेस्टइंडीज का चौथा विकेट 120 के स्कोर पर गिर गया।   हालांकि इसके बाद चंद्रपाल और ड्वेन ने अर्धशतकीय साझेदारी की मगर ड्वेन मोर्न मोर्कल के सीधे थ्रो पर रनआउट हो गए।  इसके बाद तो जैसे वेस्टइंडीज की पारी का पुलिंदा बंध  गया। वेस्टइंडीज को पोलार्ड से बहुत उम्मीदें थी लेकिन स्टेन ने अपने नए ओवर की पहली गेंद पर पोलार्ड को पगबाधा कर दिया। हालांकि अंपायर ने पोलार्ड को नाटआउट दिया था मगर दक्षिण अफ्रीका ने रैफरल मांगा जिसका उसे फायदा मिला और पोलार्ड पवेलियन लौट चले।  वेस्टइंडीज ने 213 के स्कोर पर पोलार्ड, एवोन थामस (15) और कप्तान डेरेन सैमी (शून्य) के विकेट गंवाए। वेस्टइंडीज की पारी का 47.3 ओवर में 222 रन पर पतन हो गया।  ताहिर ने यादगार गेंदबाजी करते हुए 41 रन पर चार विकेट झटक लिए। स्टेन ने 24 रन पर तीन विकेट और बोथा ने 48 रन पर दो विकेट लिए।
----------------------------
 स्कोर कार्ड
वेस्टइंडीज                                 रन  गेंद    4          6
गेल कै कैलिस बो बोथा                      2       3          0          0
स्मिथ कै एंड बो ताहिर                      36     57        3          0
डैरेन पगबाधा बो बोथा                       73     82        8          1
सरवन पगबाधा बो ताहिर                     2       10        0          0
चंद्रपाल कै पीटरसन बो ताहिर                 31     51        1          1
ड्वेन ब्रावो रनआउट                         40     37        1          3
थामस कै डुमिनी बो ताहिर                    15     26        1          0
पोलार्ड पगबाधा बो स्टेन                      0       1          0          0
सैमी पगबाधा बो स्टेन                       0       1          0          0
बेन कै मोर्केल बो स्टेन                       6       8          1          0
रोच नाबाद                                 2       6          0          0
अतिरिक्त : 15, कुल :  47.3 ओवर में 222 रन (आलआउट)। विकेटपतन : 1-2 (क्रिस गेल, 0.3), 2-113 (डैरेन ब्रावो, 23.1), 3-117 (डेवोन स्मिथ, 24.4), 4-120 (रामनरेश सरवन, 26.1), 5-178 (ड्वेन ब्रावो, 37.5), 6-209 (शिवनारायण चंद्रपाल, 42.2), 7-213(कीरोन पोलार्ड, 43.3), 8-213 (डेवोन थामस, 44.6), 9-213 (डैरेन सैमी, 45.1), 10-222 (सुलेमान बेन, 47.3). गेंदबाजी : जोहान बोथा 9-0-48-2, डेल स्टेन 7.3-1-24-3, मोर्न मोर्केल 8-0-35-0, जैक्स कैलिस 3-0-21-0, इमरान ताहिर 10-1-41-4, राबिन पीटरसन 10-0-49-0.
दक्षिण अफ्रीका                              रन  गेंद    4          6
अमला कै थामस बो रोच                      14     15        2          0
स्मिथ बो पोलार्ड                             45     78        2          0
कैलिस कै सैमी बो बेन                        4       7          0          0
डीविलियर्स नाबाद                             107   105      8          2
डुमिनी नाबाद                                42     53        1          0
ृअतिरिक्त : 11, कुल :  42.5 ओवर में 3 विकेट पर 223 रन। विकेटपतन : 1-15 (हाशिम अमला, 3.3), 2-20 (जैक्स कैलिस, 4.6), 3-139 (ग्रीम स्मिथ, 28.3). गेंदबाजी : सुलेमान बेन 10-0-51-1, कैमर रोच 8-0-42-1, ड्वेन ब्रावो 2.1-0-12-0, डैरेन सैमी 8-0-40-0, कीरोन पोलार्ड 7.5-0-37-1, क्रिस गेल 6-0-26-0, डेवोन स्मिथ 0.5-0-5-0.
--------------------------
आईसीसी पवार की शरण में
नई दिल्ली. अंतराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने दो अप्रैल को मुंबई के वानखेडेÞ स्टेडियम में होने वाले विश्व कप फाइनल के टिकटों की ब्रिकी और वितरण में मामले में बढ़ते विवाद के बीच अपने अध्यक्ष शरद पवार से हस्तक्षेप करने की मांग की है।
 आईसीसी के कानूनी सलाहकार डेविड बेकर ने पवार को एक पत्र लिखकर कहा है कि आईसीसी के वित्तीय साझीदारों के लिए तय टिकट उन्हें नहीं मिल पा रहे हैं जिससे उनमें रोष बढ रहा है। इससे आईसीसी की वित्तीय स्थिति प्रभावित हो सकती है। बेकर ने साथ ही कहा कि फाइनल के लिए जो 4000 टिकट बेचे जाने हैं उन्हें टूर्नामेंट से जुड़े क्रिकेट प्रेमियों को ही बेचा जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि फाइनल के लिए टिकटों की भारी मांग हैं और अगर इन्हें सबके लिए खोल दिया गया तो टिकट काउंटर पर मारामारी हो जाएगी।  पवार विश्व कप की केन्द्रीय आयोजन समिति के अध्यक्ष होने के साथ-साथ मुंबई क्रिकेट संघ (एमसीए) के भी अध्यक्ष हैं। वानखेडेÞ स्टेडियम एमसीए के ही अधीन है। पवार इसके अलावा भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के भी अध्यक्ष रह चुके हैं और बोर्ड में उनका अब भी बड़ा प्रभाव है।
 विश्व कप के मेजबानी समझौते के मुताबिक सभी तरह की टिकटों के वितरण और मुद्रण के लिए मेजबान बोर्ड ही जिम्मेदार हैं। बेकर ने अपने पत्र में पवार का ध्यान इस तरफ आकर्षित करते हुए कहा है कि कुछ बोर्ड समझौते की शर्तों को पूरा करने में नाकाम रहे हैं। टिकटों की बिक्री और वितरण के मामले में आम जनता में रोष बढता जा रहा है। इसके दो मुख्य कारण हैं। पहला यह कि फाइनल के लिए बहुत कम टिकट उपलब्ध हैं और दूसरा है टिकटों का वितरण। आनलाइन टिकट खरीदने वालों को भी कई तरह की परेशानियां उठानी पड़ रही हैं। बेकर ने कहा कि इस मुद्दे को बोर्डों के साथ हालिया बैठकों में कई बार उठाया जा चुका है। उन्होंने कहा कि टिकटों की आनलाइन बिक्री के लिए जिम्मेदार कंपनी उन टिकटों को वितरण नहीं कर पायी है जो कि कई महीने पहले ही खरीदे जा चुके हैं क्योंकि इसके लिए उसे संबंधित स्थल या संघ के टिकट नहीं मिले हैं। उन्होंने कहा कि हमें टिकट खरीद चुके क्रिकेटप्रेमियों की तरफ से कई शिकायतें मिली हैं।  कई लोग छह महीने पहले ही टिकट खरीद चुके हैं और इसके लिए भुगतान भी कर चुके हैं लेकिन उन्हें टिकट नहीं मिली। तब उनसे कहा गया था कि आपको फरवरी की शुरुआत में कूरियर के जरिए टिकट मिल जाएंगे। टिकट खरीदने वाले लोगों के अब मुआवजे मांगने का खतरा है। साथ ही इससे आम जनता की नजर में आईसीसी की छवि भी खराब हो रही है। बेकर ने कहा कि फाइनल के लिए टिकटों की आनलाइन बिक्री शुर होने के बाद संबंधित वेबसाइट कई बार क्रैश कर चुकी है क्योंकि इन टिकटों की भारी मांग है। साथ ही बेकर ने आईसीसी के वित्तीय साझीदारों को टिकटों के वितरण में   सामने आ रही परेशानी को भी पवार के समक्ष रखा है। उन्होंने कहा कि आईसीसी को फाइनल की एक भी टिकट नहीं मिली है और उसे अपने वित्तीय साझीदारों से कई शिकायतें मिली हैं। उन्होंने कहा कि इससे आईसीसी के अपने वित्तीय साझीदारों के साथ संबंध खराब हो सकते हैं और वे मुआवजे की मांग कर सकते हैं।
---------------------
पोंटिंग टीवी तोड़ने के दोषी करार
आईसीसी की फटकार
मुंबई.  अंतराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने आस्ट्रेलियाई कप्तान रिकी पोंटिंग को ड्रेसिंग रूम में टीवी तोड़ने का दोषी करार देते हुए उन्हें कड़ी फटकार लगाई है। पोंटिंग ने आईसीसी के फैसले को स्वीकार करते हुए नुकसान की भरपाई करने पर सहमति जता दी है जिसके साथ ही यह मामले का पटाक्षेप हो गया है।
 पोंटिंग ने गत सोमवार को अहमदाबाद में जिम्बाब्वे के खिलाफ विश्वकप मैच में रन आउट होने के बाद गुस्से में आकर टीम के ड्रेसिंग रूम में टेलीविजन सेट को नुकसान पहुंचा दिया था। गुजरात क्रिकेट संघ (जीसीए) ने मामले की रिपोर्ट भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) को भेजी थी जिसने इसे आईसीसी के समक्ष रखा।  आईसीसी ने बुधवार को एक बयान में कहा कि खिलाड़ियों की इस तरह की हरकत बर्दाश्त नहीं की जाएगी। आईसीसी ने कहा कि पोंटिंग को इस मामले में दोषी पाया गया है और उन्हें फटकार लगाई गई है। आस्ट्रेलियाई कप्तान ने आईसीसी के फैसले को स्वीकार किया है जिसके बाद इस मामले की आगे सुनवाई की जरूरत नहीं है। आईसीसी के मैच रेफरी रोशन महानामा ने कहा कि पोंटिंग जानते हैं कि उनकी हरकत आईसीसी आचारसंहिता का उल्लंघन है। उन्होंने तैश में आकर ऐसा किया और उनकी ऐसी कोई मंशा नहीं थी। उन्होंने अपनी हरकत के लिए तुरंत माफी मांग ली और नुकसान की भरपाई करने को सहमत हो गए।
आईसीसी ने कहा कि इस मामले में आस्ट्रेलियाई कप्तान को सिर्फ फटकार लगाकर छोड दिया है जबकि पोंटिंग की हरकत को देखते हुए उन पर उनकी मैच फीस का 50 प्रतिशत तक जुर्माना किया जा सकता था।

No comments:

Post a Comment