About Me

My photo
"खेल सिर्फ चरित्र का निर्माण ही नहीं करते हैं, वे इसे प्रकट भी करते हैं." (“Sports do not build character. They reveal it.”) shankar.chandraker@gmail.com ................................................................................................................................................. Raipur(Chhattigarh) India

Saturday 17 September 2011

परसदा डेम में होगी नेशनल ट्राइथलॉन चैंपियनशिप

0 भारतीय ट्राइथलॉन फेडरेशन के महासचिव राकेश गुप्ताने लिया तैयारियों का जायजा
0 नई राजधानी क्षेत्र को आयोजन स्थल तय किया गया

लोगो का विमोचन करते ट्राइथलॉन फेडरेशन के महासचिव राकेश गुप्ता (दायें से दूसरे)
 रायपुर। छत्तीसगढ़ में पहली बार 26 एवं 27 नवंबर को होने वाली नेशनल ट्राइथलॉन व एक्वाथलॉन चैंपियनशिप नई राजधानी क्षेत्र में होगी। इसके लिए स्थान का निर्धारण तय कर लिया गया है। भारतीय ट्राइथलॉन फेडरेशन के महासचिव राकेश गुप्ता ने नई राजधानी क्षेत्र का निरीक्षण कर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम के पास स्थित परसदा डेम को मुख्य आयोजन के लिए  तय किया। श्री गुप्ता ने छत्तीसगढ़ ट्रायथलॉन संघ के पदाधिकारियों से आयोजन की तैयारियों की जानकारी भी हासिल की।
दिल्ली से आए फेडरेशन के महासचिव श्री गुप्ता ने यहां स्पर्धा की तैयारी पर संतोष जताया। उन्होंने पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि इसे भव्य रूप से आयोजित किया जाएगा। इसमें देशभर के 400 राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी हिस्सा लेंगे। इस संबंध में उन्होंने मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह से भी मुलाकात की है। मुख्यमंत्री ने आयोजन में हरसंभव सहयोग करने का आश्वासन दिया है। उन्होंने कहा कि अन्य राज्यों की अपेक्षा छत्तीसगढ़ में स्पोर्ट्स पर बेहतर काम हो रहा है। छह माह पहले राज्य सरकार ने यहां प्रस्तावित नेशनल गेम्स की तैयारियों को लेकर सभी खेलों के इंडिया फेडरेशन को पत्र लिखकर जरूरी रिक्वायरमेंट की जानकारी मांगी थी। ट्राइथलॉन फेडरेशन ने इसके लिए छत्तीसगढ़ सरकार को जरूरी जानकारी उपलब्ध करा दी है। उन्होंने कहा कि यदि परसदा डेम को अच्छी तरह डेवलप कर दिया जाए, तो यहां वाटर स्पोर्ट्स व टूरिज्म को अच्छा बढ़ावा मिल सकता है। साथ ही ट्राइथलॉन, कयाकिंग एवं केनोइंग, रोइंग, याटिंग जैसे कई तरह के वाटर गेम्स भी आयोजित किए जा सकते हैं, जिसका फायदा यहां के खिलाड़ियों को मिलेगा।
लोगो का विमोचन

इस मौके पर फेडरेशन के महासचिव राकेश गुप्ता, एडिशनल एसपी आईएच खान, सचिव डॉ. विष्णु श्रीवास्तव व विनीत सक्सेना ने 11वीं सब-जूनियर, जूनियर एवं सीनियर नेशनल ट्राइथलॉन व एक्वाथलॉन चैंपियनशिप के लोगो का विमोचन किया। लोगो में तीनों खेल स्वीमिंग, साइकिलिंग व दौड़ को अंकित किया गया है। 
 

छग में डेवलप नहीं वाटर स्पोर्ट्स
छत्तीसगढ़ ट्राइथलॉन संघ के सचिव डॉ. विष्णु श्रीवास्तव ने कहा कि छत्तीसगढ़ में अभी वाटर स्पोर्ट्स डेवलप नहीं है, इस कारण यहां आयोजन के लिए वाटर बाडी ढूंढ़ने में मुश्किल हो रही है। इस कारण अब तक सिर्फ पांच राज्य स्तरीय स्पर्धा हो पाई है। परसदा डेम डेवलप हो जाने पर सभी तरह के वाटर गेम्स हो सकते हैं।
---------------------------------------------------------------------------------------------------------

छत्तीसगढ़ में वाटर स्पोर्ट्स को बढ़ावा देने का प्रयास 
0 राज्यपाल से वायएआई के इवेन्ट मैनेजर ने मुलाकात की
0 रायपुर व धमतरी में वाटर स्पोर्ट्स की संभावनाएं तलाशेंगे

वायएआई के इवेन्ट मैनेजर से चर्चा करते हुए राज्यपाल शेखर दत्त.
रायपुर। राज्य में वाटर स्पोर्ट्स को बढ़ावा दिए जाने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं। इस संबंध में शनिवार को राजभवन में राज्यपाल शेखर दत्त से याटिंग एसोसिएशन ऑफ इंडिया के निर्वाचित कौंसिल मेंबर तथा इवेन्ट कमेटी के अध्यक्ष सेवानिवृत्त लेफ्टिनेंट जनरल केएस राव ने मुलाकात की। श्री राव छत्तीसगढ़ में वाटर स्पोर्ट्स की संभावनाएं तलाशेंगे।
इस अवसर पर रायपुर के बूढ़ातालाब तथा धमतरी के गंगरेल बांध में वाटर स्पोर्ट्स की सम्भावनाओं पर विचार किया गया। याटिंग जैसे वाटर स्पोर्ट्स के लिए प्राकृतिक हवा के प्रवाह की जरूरत होती है। सामान्य रूप से ऐसी हवाएं राज्य में मानसून या उसके पहले बहती है। लेफ्टिनेंट जनरल केएस राव इस संबंध में बूढ़ातालाब तथा गंगरेल बांध का व्यक्तिगत रूप से अवलोकन कर यहां वाटर स्पोर्ट्स की संभावनाओं को भी तलाशेंगे। उल्लेखनीय है कि याटिंग, सेलिंग, रोइंग, कयानिंग एवं केनोइंग जैसे वाटर स्पोर्ट्स के प्रति युवाओं में उत्साह रहता है। छत्तीसगढ़ में 37वें राष्ट्रीय गेम्स प्रस्तावित है। इस संदर्भ में भी वाटर स्पोर्ट्स और इसके लिए अधोसंरचनाओं को बढ़ावा देने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं।
   इस दौरान लेफ्टिनेंट जनरल श्री राव के साथ अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक रामनिवास, खेल संचालक जीपी सिंह, प्रभारी कमांडर छत्तीसगढ़ उड़ीसा सब-एरिया कर्नल बिश्नोई, कमाडिंग ऑफिसर वन एनसीसी नेवल विंग कर्नल वाययू सूरी मौजूद थे।






No comments:

Post a Comment