About Me

My photo
"खेल सिर्फ चरित्र का निर्माण ही नहीं करते हैं, वे इसे प्रकट भी करते हैं." (“Sports do not build character. They reveal it.”) shankar.chandraker@gmail.com ................................................................................................................................................. Raipur(Chhattigarh) India

Tuesday 24 January 2012

एसोसिएट ट्रॉफी पर छत्तीसगढ़ का कब्जा

0 बीसीसीआई अंडर-19 एसोसिएट ट्रॉफी टूर्नामेंट
0 फाइनल में मेघालय को नौ विकेट से हराया
0 प्लेट ग्रुप के लिए किया क्वालीफाई


रायपुर। बीसीसीआई अंडर-19 एसोसिएट ट्रॉफी टूर्नामेंट के खिताब पर मेजबान छत्तीसगढ़ ने कब्जा कर लिया। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में शनिवार को खेले गए फाइनल मैच में छत्तीसगढ़ ने मेघालय को नौ विकेट से हराकर बीसीसीआई के प्लेट ग्रुप के लिए क्वालीफाई किया। 
छत्तीसगढ़ ने टॉस जीतकर क्षेत्ररक्षण करने का निर्णय लिया। पहले बल्लेबाजी करने उतरी मेघालय की टीम 38.4 ओवर में मात्र 127 रनों पर ही ऑलआउट हो गई। टीम की ओर से चमन पुष्प एवं राज बिसवा ने ही पिच पर धैर्य से खेलते हुए क्रमश: 41 व 33 रन बनाए। छत्तीसगढ़ की घातक गेंदबाजी में ऐश्वर्य मौर्य ने 9.4 ओवर में 18 रन देकर चार विकेट और मो. शहनवाज हुसैन व मो. इरफान ने तीन-तीन विकेट लिए। जवाब में छत्तीसगढ़ ने 20 ओवरों में ही 6.35 की औसत से एक विकेट खोकर 128 रनों का आसान लक्ष्य हासिलकर खिताब अपने नाम कर लिया। टीम की जीत में एक बार फिर छबि जलक्षत्री के बल्ले का जादू चला, जिन्होंने 72 गेंद में नाबाद 72 रन बनाए। इयान कोस्टर 30 रन पर नाबाद रहे। इस तरह छत्तीसगढ़ ने नौ विकेट से जीत हासिल की। इस जीत के साथ ही छत्तीसगढ़ की टीम को बीसीसीआई के अंडर-19 प्लेट ग्रुप में प्रमोशन की सौगात मिली। अगले साल प्रदेश की विजेता अंडर-19 टीम प्लेट ग्रुप में हिस्सा करेगी। 

जगदाले व शेट्टी ने बांटे पुरस्कार
समापन व पुरस्कार वितरण समारोह के मुख्य अतिथि बीसीसीआई के सचिव संजय जगदाले और विशेष अतिथि बीसीसीआई के मुख्य प्रशासनिक अधिकारी रत्नाकर शेट्टी थे। श्री जगदाले व श्री शेट्टी ने विजेता टीम को ट्रॉफी प्रदान कर पुरस्कृत किया। समारोह में श्री जगदाले एवं शेट्टी ने घोषणा करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ का स्तर प्लेट ग्रुप का है और कहा कि आने वाले समय में यहांॅ से अच्छे खिलाड़ी निकलने की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में पहले से ही क्रिकेट कल्चर है, जिसका लाभ यहांॅ के खिलाड़ियों को मिल रहा है। उन्होंने विजेता व उपविजेता टीम को अच्छे प्रदर्शन की बधाई दी। 

अच्छी तैयारी से मिली सफलता : वसीम
छग टीम के कप्तान शेख वसीम ने कहा कि मैच के लिए अच्छी तैयारी की थी। टीम के सभी खिलाड़ियों ने बेहतर प्रदर्शन किया। खासकर जलक्षत्री ने उम्दा बल्लेबाजी की। उन्होंने कहा कि प्लेट ग्रुप की तैयारी के लिए अभी टीम के पास करीब एक साल का समय है। उम्मीद है टीम प्लेट ग्रुप में बेहतर प्रदर्शन करेगी। उन्होंने कहा कि टीम प्लेट ग्रुप खेलेगी, लेकिन वे टीम का हिस्सा नहीं रहेंगे, क्योंकि अभी उनकी उम्र 19 साल है और अगले साल वे 20 साल के हो जाएंगे। इस कारण वे इसमें नहीं खेल पाएंॅगे। 
रणजी के लिए मप्र से करेंगे चर्चा : भाटिया
समारोह के बाद प्रदेश क्रिकेट संघ के अध्यक्ष बलदेव सिंह भाटिया ने कहा कि रणजी ट्रॉफी के मैच के लिए मध्यप्रदेश क्रिकेट संघ से चर्चा करेंगे। उन्होंने कहा कि यह खुशी की बात है कि श्री शेट्टी ने यहांॅ डोमेस्टिक टूर्नामेंट के मैच कराने की बात कही है। हमारे खिलाड़ी सभी टूर्नामेंटों में लगातार बेहतर प्रदर्शन कर रहे हैं। खिताब जीतकर इसे साबित कर दिया। 

महिला टीम भी चैंपियन
मेघालय की राजधानी शिलांग में हुए महिलाओं की बीसीसीआई एसोसिएट ट्राफी टूर्नामेंट में महिला टीम भी चैंपियन बनी। शनिवार को टूर्नामेंट का फाइनल मैच छत्तीसगढ़ और सिक्किम के बीच खेला गया। सिक्किम ने टॉस जीतकर पहले क्षेत्ररक्षण करने का निर्णय लिया। पहले बल्लेबाजी करने उतरी छत्तीसगढ़ की टीम 40 ओवर में 158 रन पर सिमट गई। टीम की ओर से इंदर कौर ने 41 एवं अचला विश्वकर्मा ने 25 व शोभना ने 20 रन बनाए। 158 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी सिक्किम की टीम 38.1 ओवर में महज 61 रनों पर ही ऑलआउट हो गई।  छत्तीसगढ़ की ओर से उर्मिला ने चार व बुद्धीप्रदा ने तीन विकेट लिए। छत्तीसगढ़ ने सिक्किम को 97 रन से हराकर खिताब पर कब्जा कर लिया। इस तरह शनिवार को छत्तीसगढ़ को दोहरी सफलता मिली। 
-----------------------------------------------------------------------------

स्टेडियम को डोमेस्टिक मैच की सौगात

0 बीसीसीआई के मुख्य प्रशासनिक अधिकारी रत्नाकर शेट्टी ने कहा- बोर्ड की कमेटी में रखेंगे प्रस्ताव
0 कहा-इतने बड़े स्टेडियम के मैंटेनेंस के लिए जरूरी है लगातार मैच का होना
रायपुर। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम को आखिरकार बीसीसीआई के डोमेस्टिक मैच की सौगात मिल ही गई। बीसीसीआई एसोसिएट ट्राफी के समापन समारोह में हिस्सा लेने आए बोर्ड के मुख्य प्रशासनिक अधिकारी (सीएओ) रत्नाकर शेट्टी ने शनिवार को कहा कि इतने बड़े स्टेडियम के मैंटेनेंस के लिए यहां लगातार मैच का होना जरूरी है, इसलिए इस स्टेडियम में डोमेस्टिक मैच कराने के लिए बोर्ड की कमेटी में प्रस्ताव लाया जाएगा। इससे यहां दिलीप ट्राफी समेत अन्य डोमेस्टिक टूर्नामेंट के मैचों का आयोजन हो सकेगा। 
श्री शेट्टी इसके पहले तक यहां अंतरराष्ट्रीय मैच को छोड़ ही दीजिए, डोमेस्टिक मैच के आयोजन कराने के बारे में भी कुछ कहने से कतराते रहे हैं, लेकिन उन्होंने आज पहली बार खुलकर कहा कि इतने बड़े इंफ्रास्ट्रक्चर के रखरखाव के लिए यहां लगातार मैच होना चाहिए। उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय मैचों का आयोजन बीसीसीआई के नियमों के मुताबिक होता है। इसके लिए अभी छत्तीसगढ़ को इंतजार करना होगा, लेकिन डोमेस्टिक मैच कराए जा सकते हैं। उन्होंने रणजी ट्राफी मैच कराए जाने के बारे में कहा कि इसके लिए छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश क्रिकेट संघ आपस में बातचीत करके इस बारे में निर्णय ले सकता है। रणजी मैच के आयोजन के लिए स्टेट संघ जिम्मेदार होता है। इसमें बीसीसीआई का कोई हस्तक्षेप नहीं होता है। मध्यप्रदेश क्रिकेट संघ चाहे तो रणजी ट्राफी के कुछ मैच यहां हो सकता है। इसमें कोई दिक्कत नहीं है।
छोटे शहरों पर फोकस
श्री शेट्टी ने कहा कि बीसीसीआई क्रिकेट कल्चर डेवलप करने के लिए छोटे शहरों पर फोकस कर रहा है। इसमें रायपुर भी शामिल हैं। यहां बढ़िया इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलप हो गया है। अब इसकी उपयोगिता पर ध्यान देना चाहिए। छत्तीसगढ़ सरकार भी क्रिकेट को बढ़ावा देने का काम कर रही है। अभी स्टेडियम के रखरखाव के लिए प्रदेश सरकार और छत्तीगढ़ क्रिकेट संघ के बीच समझौता होना बाकी है। 
क्रिकेट डेवलप पर ज्यादा ध्यान दें
श्री शेट्टी ने कहा कि प्रदेश क्रिकेट संघ बेहतर काम कर रहा है। यहां के खिलाड़ी भी बढ़िया प्रदर्शन कर रहे हैं, इसलिए यहां अभी अंतरराष्ट्रीय मैच कराने के बजाय घरेलू क्रिकेट डेवलप करने में ज्यादा ध्यान देना चाहिए। क्रिकेट डेवलप होगा तो यहां के खिलाड़ी नेशनल-इंटरनेशनल लेवल पर खुद ही आगे बढ़ जाएंगे।  
-----------------------------------------------

No comments:

Post a Comment