About Me

My photo
"खेल सिर्फ चरित्र का निर्माण ही नहीं करते हैं, वे इसे प्रकट भी करते हैं." (“Sports do not build character. They reveal it.”) shankar.chandraker@gmail.com ................................................................................................................................................. Raipur(Chhattigarh) India

Friday 19 August 2011

रायपुर में ''टूर डी फ्रांस" सा नजारा

0 नेशनल साइकिल रेस 'ग्रीन साइकिल-ऑन" में जुटे देशभर के 120 साइकिलिस्ट
 
0 70 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से रेसिंग
0 अभिनेत्री मिनिषा लांबा ने की साइकिलिस्टों की खूब हौसला अफजाई

रायपुर।
रविवार 14 अगस्त को राजधानी रायपुर में पहली बार विश्व प्रसिद्ध साइकिल रेस 'टूर डी फ्रांस" सा नजारा देखने को मिला। शास्त्री चौक से तेलीबांधा चौक तक गौरव पथ पर सात किमी तक 70 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से रेसिंग करते साइकिलिस्टों को देख राजधानीवासी खूब रोमांचित हुए। उनके इस रोमांच को बालीवुड अभिनेत्री मिनिषा लांबा ने कार्यक्रम में शिरकत कर दोगुना कर दिया। नेशनल साइकिल रेस 'ग्रीन साइकिल-ऑन" में देशभर के 120 साइकिलिस्ट अपने प्रदर्शन से दर्शकों में जोश भरते रहे। इसमें छत्तीसगढ़ के जूनियर-सीनियर साइकिलिस्टों ने भी अलग से हुई राज्य स्तरीय रेसिंग में अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया।
नेशनल साइकिल रेस का विधानसभा अध्यक्ष धरमलाल कौशिक ने हरी झंडी दिखाकर शुभारंभ किया। खेल मंत्री लता उसेंडी, महापौर डॉ. किरणमयी नायक व अभिनेत्री मनीषा लांबा ने भी उनका साथ देकर साइकिलिस्टों की हौसला अफजाई की। रेसिंग निर्धारित समय से पूर्व ही शुरू हो गई। रेस शुरू होने के करीब आधे घंटे बाद मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह पहुंॅचे। मुख्यमंत्री ने भी अन्य अतिथियों के साथ पूरे समय साइकिल रेस का आनंद लिया। साइकिलिस्ट जैसे ही अपना लैप पूरी कर मंच के पास पहुंॅचते मंचस्थ अतिथियों के साथ दर्शक भी जोरदार तालियों से उनका हौसला बढ़ाते। 70 किमी की दूरी 10 लैप में करीब डेढ़ घंटे में पूरी की गई, लेकिन दर्शकों में इतना अधिक रोमांच रहा कि समय का पता ही नहीं चला। इसके पूर्व छत्तीसगढ़ साइकिलिंग संघ की ओर से सभी अतिथियों का स्वागत किया गया। कार्यक्रम में भारतीय साइकिलिंग फेडरेशन के अध्यक्ष परमिंदर सिंह ढिंढसा, सचिव ओंकार सिंह, छत्तीसगढ़ ओलिंपिक संघ के महासचिव बलदेव सिंह भाटिया, खेल संचालक जीपी सिंह, नगर निगम के सभापति संजय श्रीवास्तव, छत्तीसगढ़ साइकिलिंग संघ के चेयरमैन अनिल कुमार व अध्यक्ष राजेंद्र अग्रवाल समेत अन्य पदाधिकारी मौजूद थे।
साई पटियाला के पंकज कुमार चैंपियन
 नेशनल साइकिल रेसिंग में साई एक्सीलेंस सेंटर पटियाला के पंकज कुमार प्रथम स्थान पर रहे। दिल्ली के अरविंद पनवाल दूसरे स्थान पर रहे। पंजाब के अमनदीप सिंह ने तीसरा स्थान हासिल किया। समापन व पुरस्कार वितरण समारोह में मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने विजेता खिलाड़ियों को पुरस्कार बांॅटे। नेशनल चैंपियन बनने वाले पंकज कुमार को एक लाख रुपए का नकद पुरस्कार दिया गया। साथ ही उनके कोच श्रीवेणु को 10 हजार रुपए का पुरस्कार दिया गया। दूसरे स्थान पर आने वाले अरविंद को 50 हजार रुपए व उनके कोच को सात हजार रुपए का पुरस्कार दिया गया। तीसरे स्थान पर रहे अमनदीप सिंह को 25 हजार रुपए का पुरस्कार दिया गया।
स्टेट रेसिंग के विजेताओं को साइकिल
नेशनल साइकिलिंग रेसिंग के साथ हुई स्टेट रेसिंग में पहली बार राज्य के खिलाड़ियों ने प्रदर्शन किया। इसमें जूनियर व सीनियर बालक-बालिका वर्ग के प्रथम पांॅच खिलाड़ियों को 20 साइकिल दी गई। सीनियर बालक वर्ग में कांॅकेर के संग्राम सिंह प्रथम, भूपेंद्र कुमार द्वितीय, आत्माराम यादव तृतीय, गौतम दुबे चतुर्थ व अभिषेक दुबे पांॅचवें स्थान पर रहे। सीनियर बालिकाओं में सुमन ध्रुव प्रथम, कामिनी द्वितीय, सुमन यादव तृतीय, नंदनी साहू चौथे व नेहा जायसवाल पांॅचवें स्थान पर रहीं। जूनियर बालक वर्ग में इबाम बुइंग प्रथम, अनमोल अभय काले द्वितीय, शैंकी जैन तृतीय, लोकेश साहू चौथे व रथेश दीप पांॅचवें स्थान पर रहे। जूनियर बालिका वर्ग में गुलाबी पहले, सपना चक्रधारी दूसरे व तापसी चक्रवर्ती तीसरे स्थान पर रहीं।
जो फिट, वही हिट : रमन
 ज्यादातर खेल समारोहों में संक्षिप्त भाषण देने वाले मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह रविवार को पूरे रंग में दिखे। वे अभिनेत्री मिनिषा लांबा की चुटकी लेने से भी नहीं चूके। मुख्यमंत्री ने कहा कि दुनिया में जो फिट है, वही हिट है। इसलिए फिट रहने के लिए साइकिल चलाना चाहिए। बच्चों को भी साइकिल चलाने के लिए प्रोत्साहित करना चाहिए। जो संकल्प लेकर हौसले के साथ आगे बढ़ता है, वही विजेता होता है। उन्होंने कहा कि फेडरेशन ने यहां पर साइकिलिंग के लिए ट्रैक व वेलोड्रम की बनाने की मांग की है। छत्तीसगढ़ में 37वें नेशनल गेम्स होना है और साइकिल भी उसमें शामिल है, इसलिए इसका इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार करना है। इसके लिए चिंता करने की बात नहीं है।
खिलखिलाई मिनिषा
 मुख्यमंत्री ने कहा कि चर्चा के दौरान जब मिनिषा ने उन्हें बताई कि वे 12वीं तक साइकिल चलाती थीं। इस पर मुख्यमंत्री ने चुटकी लेते हुए कहा कि इसीलिए मिनिषा अभी तक फिट और हिट भी हैं। यह सुनकर पूरे दर्शक ही नहीं अभिनेत्री मिनिषा भी खिल-खिलाकर हंस पड़ी।




मील का पत्थर साबित होगा : कौशिक
समारोह में विधानसभा अध्यक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा कि राजधानी में नेशनल साइकिल रेसिंग मील पत्थर साबित होगा। रेस में हिस्सा लेने वाले प्रदेश के खिलाड़ी इससे प्रोत्साहित होंगे और नेशनल व इंटरनेशनल लेवल पर पदक जीतेंगे। साइकिलिंग से पर्यावरण संरक्षण के लिए अच्छा संदेश मिलेगा।
नेशनल गेम्स की तैयारी चल रही : उसेंडी
समारोह में खेल मंत्री लता उसेंडी ने कहा कि राज्य बनने के बाद छत्तीसगढ़ खेल में तेजी से विकास कर रहा है। पहले मेडल नहीं था, लेकिन आज छत्तीसगढ़ कई खेलों में मेडल जीत रहा है। उन्होंने कहा कि 37वें नेशनल गेम्स की तैयारी ठीक से चल रही है और समय पर सभी इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार हो जाएगा।
विदेशों व बड़े शहरों के तर्ज साइकिल ट्रैक : महापौर
समारोह में महापौर डॉ. किरणमयी नायक ने कहा कि बचपन ऐसे ही साइकिल रेस में हिस्सा लेने का सपना था, लेकिन वे कभी साइकिल रेस में हिस्सा नहीं ले पाईं, पर वह सपना आज इसे देखकर पूरा हो गया। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में भी साइकिल ट्रैक व वेलोड्रम बनना चाहिए। रायपुर में भी बड़े शहरों व विदेशी के तर्ज पर यहां सड़क किनारे साइकिल ट्रैक बनाने पर विचार किया जा रहा है, लेकिन वर्तमान में यहां की संकरी सड़कें व ट्रैफिक समस्या के चलते नहीं बनाई जा सकती। अब सड़कों का चौड़ीकरण किया जा रहा है।
साइकिलिंग को बढ़ावा देने विशेष फंड : ढिंढसा
भारतीय साइकिलिंग फेडरेशन के अध्यक्ष परमिंदर सिंह ढिंढसा ने कहा कि यहां शानदार आयोजन हुआ। उन्होंने बताया कि फेडरेशन पूरे देश में साइकिलिंग को बढ़ावा देने के लिए विशेष फंड बनाई है। जिसके तहत सभी राज्यों को साइकिल उपलब्ध कराई जा सके। राज्य हमें सिर्फ ट्रैक बनाकर दें, बाकी तकनीकी जानकारी फेडरेशन मुहैया कराएगा। उन्होंने कहा कि पिछले दो साल में दिल्ली, मुंबई व नासिक में इंटरनेशनल लेवल की साइकिल रेस आयोजित की जा रही है। अब इसे बेंगलुरू या कोलकाता में भी आयोजित करने पर विचार किया जा रहा है।
खूब साइकिल चलाई : मिनिषा
अभिनेत्री मिनिषा लांबा समारोह में विजेताओं को बधाई दी और उन्हें यहां बुलाने के लिए आयोजकों को धन्यवाद दिया। मिनिषा ने कहा कि बचपन ने उन्होंने अपने भाई के साथ खूब साइकिल चलाई। साइकिलिंग एक ग्रोविंग स्पोर्ट है और इसमें यहां के खिलाड़ी तेजी से आगे बढ़ रहे हैं।
वर्ल्ड चैंपियनशिप में मेडल जीतना लक्ष्य : पंकज
नेशनल साइकिल रेस में पहले स्थान पर आए साई सेंटर पटियाला के पंकज कुमार का कहना है कि वर्ल्ड चैंपियनशिप में पदक जीतना उनका लक्ष्य है। अब तक सीनियर लेवल पर सात व जूनियर वर्ग में 25 नेशनल मेडल जीत चुके पंकज ने कहा कि इस समय वे पटियाला में थाईलैंड में होने वाली एशियन चैंपियनशिप की तैयारी कर रहे हैं। पंकज झारखंड नेशनल गेम्स में दो स्वर्ण व एक कांस्य पदक जीत चुके हैं।

No comments:

Post a Comment