About Me

My photo
"खेल सिर्फ चरित्र का निर्माण ही नहीं करते हैं, वे इसे प्रकट भी करते हैं." (“Sports do not build character. They reveal it.”) shankar.chandraker@gmail.com ................................................................................................................................................. Raipur(Chhattigarh) India

Wednesday 29 June 2011

संजय शर्मा वर्ल्ड फेडरेशन वाबा के प्रतिनिधि नियुक्त


0 छत्तीसगढ़ के इंटरनेशनल निर्णायक हैं संजय
रायपुर।  छत्तीसगढ़ के अंतरराष्ट्रीय बाडी बिल्डिंग निर्णायक संजय शर्मा को वर्ल्ड एमेच्योर बाडी बिल्डिंग एसोसिएशन (वाबा) ने अपना प्रतिनिधि नियुक्त किया है। बाडी बिल्डिंग के इंडिया फेडरेशन को अब किसी भी तरह का पत्राचार सीधे वर्ल्ड फेडरेशन से न करके संजय शर्मा के माध्यम से करना होगा। इस आशय का पत्र वाबा के जर्मनी स्थित मुख्यालय से प्रेसिडेंट गेरहार्ड न्यूमर ने संजय शर्मा और इंडिया फेडरेशन को भेजा है। वाबा ने विभिन्ना वर्ल्ड चैंपियनशिप में निर्णायक के रूप उनके अनुभव को देखते हुए श्री शर्मा को यह जिम्मेदारी दी है।
गौरतलब है कि प्रदेश के अंतरराष्ट्रीय निर्णायक व हनुमान सिंह अवार्डी श्री शर्मा कई अंतरराष्ट्रीय बाडी बिल्डिंग चैंपियनशिप में निर्णायक रह चुके हैं। वे वर्तमान में इंडिया फिटनेस एंड बाडी बिल्डर फेडरेशन (नेशनल एमेच्योर बाडी बिल्डिंग फेडरेशन) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व प्रदेश संघ के सचिव हैं। लोक निर्माण मंत्री बृजमोहन अग्रवाल राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं।
श्री शर्मा वर्ष 2010 में जर्मनी के अल्जाई में हुई वर्ल्ड मिस्टर वाबा यूनिवर्स चैंपियनशिप के नौ सदस्यीय निर्णायक जुरी के सदस्य रहे। साथ ही पिछले साल मास्को में हुई यूरोपियन यूथ बाडी बिल्डिंग चैंपियनशिप में भी निर्णायक रहे। इसके पूर्व वे वर्ष 2008 में फिलीपींस के इंगु में हुई एशियन पैसिफिक बाडी बिल्डिंग चैंपियनशिप के निर्णायक रहे। वर्ष 2006 में एथेंस के ग्रीस में हुई वर्ल्ड बाडी बिल्डिंग चैंपियनशिप में नौ सदस्यीय जुरी के सदस्य रहे। इसके अलावा वर्ष 2005 में इंडो-पाक बाडी बिल्डिंग चैंपियनशिप, 1997 में फ्रांस के केस्ट्रीज में व 1995 में स्पेन के पुर्तबानी में हुई वर्ल्ड बाडी बिल्डिंग चैंपियनशिप में निर्णायक रहे।

गौरव की बात : शर्मा
अपनी नियुक्ति पर श्री शर्मा ने कहा कि वर्ल्ड फेडरेशन की ओर से उन्हें भारत में प्रतिनिधि नियुक्त करना उनके लिए गौरव की बात है। वे जिम्मेदारी से अपना काम करेंगे और बाडी बिल्डिंग को आगे बढ़ाने के लिए वे हरसंभव प्रयास करेंगे। यह खुशी की बात है कि वे वर्ल्ड फेडरेशन की नजरों में आ गए हैं। भविष्य में यदि वर्ल्ड फेडरेशन में कोई महत्वपूर्ण पद मिलता है तो वे उसे भी जिम्मेदारी से स्वीकार करेंगे।
29 एससी3
 

No comments:

Post a Comment