About Me

My photo
"खेल सिर्फ चरित्र का निर्माण ही नहीं करते हैं, वे इसे प्रकट भी करते हैं." (“Sports do not build character. They reveal it.”) shankar.chandraker@gmail.com ................................................................................................................................................. Raipur(Chhattigarh) India

Sunday 6 March 2011

विश्व कप : युवी के पंजे में फंसा आयरलैंड

भारत ने युवराज के आलराउंडर प्रदर्शन की बदौलत आयरलैंड को पांच विकेट से हराया
धोनी और युवराज 
बेंगलुरु. युवराज सिंह (31/5, नाबाद 50 रन) के हरफनमौला प्रदर्शन के आगे आयरलैंड विश्व कप में दूसरा उलटफेर का कारनामा नहीं दोहरा सका। अनुभवहीन आयरिश गेंदबाजों की कसी हुई गेंदबाजी का डटकर सामना करते हुए भारत ने विश्व कप के ग्रुप-बी के मुकाबले में 24 गेंद शेष रहते उसे पांच विकेट से हरा दिया, जिससे वह अंक तालिका में शीर्ष पर पहुंच गया है। आलराउंडर प्रदर्शन करने वाले युवराज सिंह मैन आफ द मैच रहे।
भारत को मैच जीतने में हालांकि काफी पसीना बहाना पड़ा लेकिन युवराज के करियर के 47वें अर्धशतक और सचिन तेंदुलकर (38), विराट कोहली (34) व यूसुफ पठान (नाबाद 30) की दमदार पारियों के साथ मेजबान टीम ने 46ओवर में पांच विकेट खोकर 210 रन बनाकर लक्ष्य हासिल कर लिया। इससे पूर्व आयरलैंड ने कप्तान विलियम पोटरफील्ड (75) और नील ओ ब्रायन (46) ने नायाब बल्लेबाजी की और तीसरे विकेट के लिए दोनों के बीच हुई 111 रन की साझेदारी के बावजूद आयरिश टीम 47.5 ओवर में 207 रन बनाकर आउट हो गई। युवराज के अलावा जहीर खान ने 30 रन देकर तीन विकेट चटकाए। युवराज ने फिरकी का जादू चलाते हुए करियर में पहली बार पांच विकेट चटकाए जो विश्व कप इतिहास में बाएं हाथ के किसी स्पिनर की सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी है। भारत ने अपने पहले मुकाबले में बांग्लादेश को 87 रनों से हराया था वहीं दूसरा मैच उसने इंग्लैंड से टाई खेला था।
आयरलैंड से मिले छोटे से लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम की शुरुआत अच्छी नहीं रही और सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग सिर्फ पांच रन ही बनाकर पवेलियन लौट गए। सहवाग को ट्रेंट जानसटन ने काट एंड बोल्ड किया। इसके बाद गौतम गंभीर (10) भी जल्दी चलते बने। गंभीर को भी जानसटन ने कुसैक के हाथों लपकवाकर पैवेलियन का रास्ता दिखाया। मात्र 24 रन पर दो विकेट गंवाने से सकते में आई टीम इंडिया के लिए सचिन (38) और कोहली ने संयम के साथ खेलते हुए पारी को आगे बढ़ाया। दोनों ने 15 ओवर में 63 रन की साझेदारी की। एक बार फिर तेंदुलकर बड़ी पारी की ओर बढ़ रहे थे, लेकिन डोकरेल की गेंद को स्वीप करने के प्रयास में अपना विकेट गंवा बैठे और पगबाधा हो गए। कोहली को अब युवराज के रूप में बढ़िया साथ मिला और दोनों ने टीम को लक्ष्य की ओर अग्रसर किया। हालांकि अच्छी बल्लेबाजी कर रहे कोहली दुर्भाग्यशाली तरीके से रनआउट हो गए। युवराज के शाट पर दो रन लेने के प्रयास में दोनों बल्लेबाजों में गफलत हो गई और परिणामस्वरूप कोहली रनआउट हो गए। कोहली ने 53 गेंदों में 34 रन बनाए। कोहली के स्थान पर जब कप्तान धोनी क्रीज पर आए तब टीम लक्ष्य से 108 रन दूर थी। आयरिश गेंदबाजों की अनुशासित गेंदबाजी के बावजूद धोनी ने युवराज का बेहतरीन साथ दिया और 67 रन की साझेदारी कर लक्ष्य के नजदीक पहुंच रहे थे कि धोनी 34 रन बनाकर डोकरेल की गेंद पर एलबीडब्ल्यू हो गए। धोनी के स्थान अब अब यूसुफ पठान मैदान पर आए और शुरुआती चार गेंदों में दो छक्का व एक चौका ठोंककर टीम की जीत सुनिश्चित कर दी।
इससे पहले चिन्नास्वामी स्टेडियम में भारत से पहले बल्लेबाजी करने का निमंत्रण मिलने के बाद आयरलैंड की शुरुआत बहुत ही खराब रही।  जहीर ने पहले ही ओवर की चौथी गेंद पर सलामी बल्लेबाज पाल स्टर्लिंग (0) को बोल्ड कर दिया। इसके पहले तीसरी गेंद पर पोटरफील्डका कैच स्लिप में पठान ने छोड़ दिया। जहीर ने अपने दूसरे ओवर में एड जोयसे (4) को चौका लगाने के बाद धोनी के हाथों कैच आउट करा दिया। आयरलैंड ने इस समय नौ रन बने थे लेकिन इसके बाद पोटरफील्ड और नील ने पारी को संभालते हुए शतकीय साझेदारी की और टीम को अच्छी स्थिति में पहुंचा दिया। नील 78 गेंदों पर तीन चौके लगाने के बाद अपना अर्धशतक पूरा करने का इंतजार कर ही रहे थे लेकिन वह रन आउट हो गए। इसके बाद कप्तान का साथ देने एंड्रयू व्हाइट (5) क्रीज पर आए लेकिन युवराज ने उन्हें अपनी सीधी गेंद पर धौनीके हाथों कैच कराकर आयरलैंड को चौथा झटका दिया।
जहां स्थापित गेंदबाज आयरिश बल्लेबाजों का विकेट झटक पाने में नाकाम रहे वहीं युवराज ने बेहतरीन गेंदबाजी करते हुए एक के बाद एक सफलता हासिल करते हुए पांच विकेट चटकाए। पोटरफील्ड,नील, एलेक्स कुसैक (24) और ट्रेंट जानसन (17) ही दहाई का आंकड़ा पार कर सके। पिछले मैच में इंग्लैंड के खिलाफ विश्व कप में सबसे तेज शतक लगाकर एतिहासिक जीत दिलाने वाले केविन ओ ब्रायन आज मात्र नौ रन बनाकर युवराज की गेंद पर काट एंड बोल्ड हो गए। पिछले मैच में इंग्लैंड के खिलाफ लचर गेंदबाजी करने वाले पीयूष चावला आज भी बहुत महंगे साबित हुए और आठ ओवर में बिना कोई सफलता हासिल किए 56 रन लुटा दिए।
युवी ने बनाया रिकार्ड
मैच में आलराउंडर प्रदर्शन करने वाले युवराज सिंह ने रविवार को विश्व कप में एक नया रिकार्ड अपने नाम कर लिया। वर्ल्ड कप में पांच विकेट लेकर अर्धशतक बनाने वाले वे दुनिया के पहले खिलाड़ी बन गए हैं। अब तक किसी खिलाड़ी को यह उपलब्धि हासिल नहीं हुई है।
-----------------------------
स्कोर कार्ड
आयरलैंड                                                    रन    गेंद    4    6
पोर्टरफील्ड कै हरभजन बो युवराज                75    104    6    1
स्टर्लिंग बो   जहीर                                        0    1    0    0
जोयसे कै धोनी बो जहीर                              4    5    1    0
एन ओब्रायन रनआउट                                 46    78    3    0
व्हाइट कै धोनी बो युवराज                            5    10    0    0
के ओब्रायन के एंड बो युवराज                       9    13    1    0
कुसैक पगबाधा बो युवराज                           24    30    3    0
मूनी पगबाधा बो युवराज                             5    17    0    0
जानसन पगबाधा बो मुनाफ                       17    20    2    0
डोकरेल कै धोनी बो जहीर                           3    10    0    0
रैनकिन नाबाद                                          1    1    0    0
ृअतिरिक्त : 18, कुल :  47.5 ओवर में 207 रन (आलआउट)।  
विकेटपतन : 1-1 (स्टर्लिंग, 0.4), 2-9 (जोयसे, 2.3), 3-122 (एन ओब्रायन, 26.5), 4-129 (एंड्रयू व्हाइट, 29.1), 5-147 (के ओब्रायन, 33.4), 6-160 (पोर्टरफील्ड, 37.1), 7-178 (जान मूनी, 41.5), 8-184 (कुसैक, 43.4), 9-201 (डोकरेल, 46.6), 10-207 (ट्रेंट जानसन, 47.5). 
गेंदबाजी : जहीर खान 9-1-30-3, मुनाफ पटेल 4.5-0-25-1, यूसुफ पठान 7-1-32-0, हरभजन सिंह 9-1-29-0, पीयूष चावला 8-0-56-0, युवराज सिंह 10-0-31-5.
भारत                                                  रन    गेंद    4    6
सहवाग कै एंड बो जानसन                   5    3    1    0
सचिन पगबाधा बो डोकरेल                  38    56    4    0
गंभीर कै कुसैक बो जानसन                10    15    2    0
कोहली रनआउट                                 34    53    3    0
युवराज नाबाद                                   50    75    3    0
धोनी पगबाधा बो डोकरेल                   34    50    2    0
यूसुफ नाबाद                                    30    24    2    3
अतिरिक्त : 9, कुल :  46 ओवर में 5 विकेट पर 210 रन। विकेटपतन : 1-9 (वीरेंद्र सहवाग, 1.1), 2-24 (गौतम गंभीर 5.2), 3-87 (सचिन तेंदुलकर, 20.1), 4-100 (विराट कोहली, 23.4), 5-167 (धोनी, 40.1).
गेंदबाजी : बोयड रैनकिन 10-1-34-0, ट्रेंट जानसन 5-1-16-2, जार्ज डोकरेल 10-0-49-2, जान मूनी 2-0-18-0, पाल स्टर्लिंग 10-0-45-0, एंड्रयू व्हाइट 5-0-23-0, के ओब्रायन 1-0-3-0, कुसैक 3-0-18-0.
--------------------------------------------------
दक्षिण अफ्रीका फिर हुआ ‘चोकर्स’
इंग्लैंड की सनसनीखेज जीत
रवि बोपारा 
चेन्नई. तेज गेंदबाजों स्टुअर्ट ब्राड (15 रन पर चार विकेट) और जेम्स एंडरसन (16 रन पर दो विकेट) ने इंग्लैंड को आज नाजुक परिस्थिति से बाहर निकालते हुए अब तक के सबसे रोमांचक मुकाबले में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ क्रिकेट विश्वकप के ग्रुप-बी मुकाबले में छह रन से सनसनीखेज जीत दिला दी।
 इंग्लैंड ने हालांकि 45.4 ओवर में 171 रन का सामान्य स्कोर खड़ा किया था लेकिन उसने दक्षिण अफ्रीका को 47.4 ओवर में 165 रन पर समेट दिया। दक्षिण अफ्रीका एक समय तीन विकेट पर 124 रन बनाकर आसान जीत की तरफ बढ रहा था लेकिन वह अपनी चोकर्स की छवि से बाहर नहीं निकल पाया और उसने जीता हुआ मैच गंवा दिया। इंग्लैंड की इस सनसनीखेज जीत का श्रेय उसके दोनों तेज गेंदबाजों एंडरसन और ब्राड को जाता है जिन्होंने अपनी गेंदबाजी से मैच का रख ही बदल डाला। ब्राड ने 48वें ओवर में चार गेंदों के अंतराल में डेल स्टेन और मोर्न मोर्कल को आउट करते हुए इंग्लैंड को सनसनीखेज जीत दिलाने के बाद उसकी क्वार्टरफाइनल में पहुंचने की उम्मीदों को कायम रखा।  इस जीत के साथ इंग्लैंड अब चार मैचों में पांच अंक लेकर ग्रुप-बी में चोटी पर पहुंच गया है। दक्षिण अफ्रीका के इस हार के बाद तीन मैचों में चार अंक हैं। इंग्लैंड को अपने अगले दो मुकाबले 11 मार्च को बंगलादेश से और 17 मार्च को वेस्टइंडीज से खेलने हैं। इंग्लैंड के लिए क्वार्टरफाइनल में पहुंचने की अपनी उम्मीदों को बनाए रखने के लिए यह मैच हर हाल में जीतना था। इससे पहले तक उसके तीन मैचों से तीन अंक थे। वह आयरलैंड से सनसनीखेज हार झेल चुका था जबकि भारत से उसका मैच टाई रहा था।  उसकी टीम को दक्षिण अफ्रीका के स्पिन गेंदबाजों ने 171 रन पर ढेर कर दिया था। ये हालात किसी भी टीम का मनोबल तोड़ने के लिए काफी हो सकते हैं। लेकिन इंग्लैंड के तेज गेंदबाजों ने गजब का जज्बा दिखाया और हारी हुई बाजी पलट दी।
 दक्षिण अफ्रीका ने तीन रन के अंतराल में चार विकेट गंवाए और वह तीन विकेट पर 124 रन की सुखद स्थिति से सात विकेट पर 127 रन की नाजुक स्थिति में फंस गया। हालांकि मोर्न वान विक (13) और डेल स्टेन (20) ने आठवें विकेट की साझेदारी में महत्वपूर्ण 33 रन जोड़कर दक्षिण अफ्रीका को फिर से मुकाबले में लौटा दिया।  लेकिन चोकर्स का भूत एक बार फिर दक्षिण अफ्रीका पर हावी हो गया। ब्रेस्नन ने वान विक को बोल्ड किया जबकि ब्राड ने नए स्पैल में लौटते हुए स्टेन को पगबाधा कर दिया। स्टेन ने हालांकि रेफरल मांगा लेकिन वह जानते थे कि वह आउट हो चुके हैं। स्टेन ने 31 गेंदों की अपनी पारी में तीन चौके लगाए।  इसी ओवर की चौथी गेंद पर मोर्कल विकेटकीपर मैट प्रायर को कैच दे बैठे। प्रायर का यह कैच पकडना था कि सारे इंग्लिश खिलाड़ी इस सनसनीखेज जीत की खुशी में झूम उठे और सबने प्रायर को गले लगा लिया।  इंग्लैंड के सबसे सफल गेंदबाज ब्राड ही रहे जिन्होंने 6.4 ओवर के करिश्माई प्रदर्शन में 15 रन देकर चार विकेट झटक लिए।  एंडरसन ने दो विकेट लेकर दक्षिण अफ्रीका के बढते कदमों पर ब्रेक लगा दी थी। माइकल यार्डी, टिम ब्रेस्नन और ग्रीम स्वान को एक-एक विकेट मिला। इंग्लैंड की पारी में शानदार 60 रन बनाने वाले रवि बोपारा को मैन आफ द मैच घोषित किया गया। दक्षिण अफ्रीका ने सामान्य लक्ष्य का पीछा करते हुए अच्छी शुरुआत की। हाशिम अमला (42) और कप्तान ग्रीम स्मिथ (22) ने पहले विकेट के लिए 14 ओवर में 63 रन की साझेदारी की। स्वान ने स्मिथ को प्रायर के हाथों कैच कराकर दक्षिण अफ्रीका को पहला झटका दिया। ब्राड ने फिर सात रनों के अंतराल में अमला को बोल्ड किया और फिर जैक्स कैलिस (15) को विकेट के पीछे कैच देने के लिए मजबूर कर दिया। पिछले दो मैचों में लगातार शतक बनाने   वाले ए बी डीविलियर्स (25) और फाफ डू प्लेसिस (17) टीम के स्कोर को 124 तक ले गए। लेकिन इंग्लैंड की बेहतरीन गेंदबाजी के सामने दक्षिण अफ्रीका की टीम दबाव में आ चुकी थी। एंडरसन ने जैसे ही डी विलियर्स को बोल्ड किया इसके बाद तो इंग्लैंड पूरी तरह दक्षिण अफ्रीका पर हावी हो गया और उसने मैच पर अपनी पकड़ मजबूत करते हुए जीत हासिल कर ही दम लिया।
 दक्षिण अफ्रीका के बल्लेबाजों ने अपने दोनों स्पिनरों रोबिन पीटरसन और इमरान ताहिर की मेहनत पर पानी फेर दिया। लेग स्पिनर ताहिर ने  38 रन पर चार विकेट और लेफ्ट आर्म स्पिनर पीटरसन ने 22 रन पर तीन विकेट लेकर इंग्लैंड को 171 रन पर समेट दिया था। इंग्लैंड की टीम की शुरूआत बेहद खराब रही और टीम ने पहले ही ओवर में तीन गेंदों में दो विकेट गंवा दिए। इंग्लिश बल्लेबाज इन शुरूआती झटकों से टीम को उबार नहीं पाए और नियमित अंतराल लगातार विकेट गिरने से टीम पूरे 50 ओवर भी नहीं खेल पाई और 171 रन के मामूली स्कोर पर ही आलआउट हो गई।
 दक्षिण अफ्रीकी गेंदबाजों ने शानदार प्रदर्शन किया और इंग्लिश बल्लेबाजों को ज्यादा देर टिकने का मौका ही नहीं दिया। दक्षिण अफ्रीका की ओर से पाकिस्तान मूल के ताहिर ने 8.4 ओवर में 38 रन देकर चार विकेट, पीटरसन ने आठ ओवर में 22 रन देकर तीन विकेट और तेज गेंदबाज मोर्न मोर्कल ने 16 रन पर दो विकेट तथा डेल स्टेन ने 37 रन पर एक विकेट लिया।  इंग्लैंड की तरफ से जोनाथन ट्राट ( 52) और रवि बोपारा (60) ही दक्षिण अफ्रीका के गेंदबाजों का सामना कर सके। दोनों ने चौथे विकेट के लिए 99 रन की साझेदारी की। ट्राट ने 94 गेंदों की अपनी अर्धशतकीय पारी में सिर्फ तीन चौके लगाए जबकि बोपारा ने 98 गेंदें खेलकर तीन चौके और एक छक्का लगाया। इस साझेदारी के दौरान इंग्लैंड कुछ संभलता दिखाई दे रहा था लेकिन ताहिर ने जैसे ही अपनी गेंद पर ट्राट को लपका इंग्लिश पारी फिर संभल नहीं सकी और 46वें ओवर में जाकर निपट गई। बोपारा छठे बल्लेबाज के रूप में आउट हुए। ग्रीम स्वान ने तीन चौकों की मदद से 16 रन बनाए और इंग्लैंड के स्कोर को कुछ सम्मान दिया। ताहिर ने इंग्लैंड के आखिरी दो विकेट लेते हुए उसकी पारी 171 रन पर समेट दी।  इंग्लैंड की शुरुआत खौफनाक रही थी और दक्षिण अफ्रीकी कप्तान ग्रीम स्मिथ बाएं हाथ के स्पिनर पीटरसन से गेंदबाजी की शुरुआत करने का दांव काम कर गया1 पीटरसन ने पहले ही ओवर की तीसरी गेंद पर पिछले मैच के शतकधारी एंड्रयू स्ट्रास को लपकवा दिया। स्ट्रास ने आगे बढकर शाट खेलने की कोशिश में लांग आन पर ए बी डीविलियर्स को कैच थमा दिया।  इस ओवर की आखिरी गेंद पर केविन पीटरसन स्लिप में जैक्स कैलिस को कैच थमा बैठे। इंग्लैंड पहले ही ओवर में अपने दो विकेट गंवा बैठा था। पारी के पांचवें ओवर में पीटरसन ने अपनी ही गेंद पर इयान बेल को खूबसूरती से लपक लिया।
 इन शुरुआती तीन झटकों से इंग्लैंड अंत तक नहीं संभल पाया। हालांकि ट्राट और बोपारा ने एक अच्छी साझेदारी की मगर दक्षिण अफ्रीका के दोनों स्पिनरों ने इंग्लिश पारी को बराबर दबाव में रखा। पहले पीटरसन ने इंग्लैंड को झकझोरा और फिर ताहिर ने इंग्लैंड का काम तमाम कर दिया। मोर्कल ने बोपारा और मैट प्रायर (10) के विकेट झटके जबकि टिम ब्रेस्नन (01) को स्टेन ने पगबाधा किया।
--------------------------------
स्कोर कार्ड
इंग्लैंड                                                                रन    गेंद    4    6
स्ट्रास कै डीविलियर्स बो पीटरसन                         0    3    0    0
पीटरसन कै कैलिस बो पीटरसन                           2    3    0    0
ट्राट कै एं बो ताहिर                                               52    94    3    0
बेल कै एंड बो पीटरसन                                        5    7    1    0
बोपारा पगबाधा बो मोर्केल                                  60    98    3    1
प्रायर कै वान विक बो मोर्केल                              10    19    1    0
यार्डी कै पीटरसन बो ताहिर                                 3    17    0    0
ब्रेस्नन पगबाधा बो स्टेन                                    1    4    0    0
स्वान कै डुमिनी बो ताहिर                                  16    20    3    0
ब्राड पगबाधा बो ताहिर                                       0    3    0    0
एंडरसन नाबाद                                                  2    6    0    ०
 अतिरिक्त : 20, कुल :  45.5 ओवर में 171 रन (आलआउट)। 
विकेटपतन : 1-1 (एंड्रयू स्ट्रास, 0.3), 2-3 (केविन पीटरसन, 0.6), 3-15 (इयान बेल, 4.4), 4-114 (जोनाथन ट्राट, 29.5), 5-134 (मैट प्रायर, 35.3), 6-148 (रवि बोपारा, 39.3), 7-149 (टिम ब्रेस्नन, 40.1), 8-161 (माइकल यार्डी, 43.3), 9-161 (स्टुअर्ट ब्राड, 43.5), 10-171 (ग्रीम स्वान, 45.4).
गेंदबाजी : रोबिन पीटरसन 8-2-22-3, डेल स्टेन 9-0-37-1, मोर्न मोर्केल 7-0-16-2, जैक्स कैलिस 4-1-14-0, इमरान ताहिर 8.4-1-38-4, फाफ डु प्लेसिस 5-0-16-0, जेपी डुमिनी 4-0-20-0.
दक्षिण अफ्रीका                                           रन    गेंद    4    6
अमला बो ब्राड                                             42    51    2    0
स्मिथ कै प्रायर बो स्वान                             22    41    2    0
कैलिस कै प्रायर बो ब्राड                              15    20    3    0
डीविलियर्स बो एंडरसन                              25    44    0    0
प्लेसिस रनआउट                                      17    38    2    0
डुमिनी बो एंडरसन                                    0    4    0    0
वान विक बो ब्रेस्नन                                  13    37    0    0
पीटरसन कै प्रायर बो यार्डी                         3    16    0    0
स्टेन पगबाधा बो ब्राड                                20    31    3    0
मोर्केल कै प्रायर बो ब्राड                             1    3    0    0
ताहिर नाबाद                                            1    1    0    0
अतिरिक्त : 6, कुल :  47.4 ओवर में 165 रन (आलआउट)।
विकेटपतन : 1-63 (ग्रीम स्मिथ, 14.1), 2-75 (हाशिम अमला, 17.3), 3-82 (जैक्स कैलिस, 19.2), 4-124 (एबी डीविलियर्स, 31.6), 5-124 (फाफ डु प्लेसिस, 32.2), 6-124 (जेपी डुमिनी, 33.4), 7-127 (रोबिन पीटरसन, 36.6), 8-160 (वान विक, 46.2), 9-164 (डेल स्टेन, 47.1), 10-165 (मोर्न मोर्केल, 47.4).
गेंदबाजी : माइकल यार्डी 9-1-46-1, जेम्स एंडरसन 6-0-16-2, टिम ब्रेस्नन 8-1-27-1, ग्रीम स्वान 8-1-27-1, स्टुअर्ट ब्राड 6.4-0-15-4, केविन पीटरसन 8-0-30-0.
-------------------------------------------------------------------------

No comments:

Post a Comment