About Me

My photo
"खेल सिर्फ चरित्र का निर्माण ही नहीं करते हैं, वे इसे प्रकट भी करते हैं." (“Sports do not build character. They reveal it.”) shankar.chandraker@gmail.com ................................................................................................................................................. Raipur(Chhattigarh) India

Wednesday 16 March 2011

अधूरी टीम इंडिया का अधूरा अभ्यास


चेन्नई. गल्तियों से सबक लेना तो दूर उसमें सुधार भी न करने वाली टीम इंडिया के सारे खिलाड़ी दूसरे दिन भी अभ्यास के लिए इकट्ठा नहीं हो पाए। वेस्टइंडीज से होने वाले अहम मुकाबले के तीन दिन पहले भारत के कुछ ही खिलाड़ियों ने अभ्यास किया। युवराज सिंह समेत इन सात भारतीय खिलाड़ियों ने भी अभ्यास सत्र के दौैरान सिर्फ सवा दो घटे ही पसीना बहाना मुनासिब समझा।
हारकर भी मस्ती में माहिर भारतीय टीम अभी भी नहीं चेत रही है। फिसड्डी टीमों के साथ हुए लीग मैचों को अगर किसी ने रोमांचक बनाया तो उसका श्रेय भी टीम इंडिया को ही जाता है। दक्षिण अफ्रीका के हाथों नजदीकी हार के बाद भी भारतीय खिलाड़ी अभ्यास पर ध्यान देने के बजाए अपना ध्यान कहीं और दे रहे हैं। विश्व कप जीतना का सपना संजोने वाली टीम इंडिया के लिए वेस्टइंडीज को हराना बेहद जरूरी है, वरना हो सकता है कि वो क्वार्टर फाइनल में भी न पहुंचे और उसका दिल और सपने दोनों चकनाचूर हो जाएं। बाकी प्रशंसकों को तो जैसे इसकी आदत ही हो गई है।
कप्तान महेंद्र सिंह धौनी, सचिन तेंदुलकर, वीरेंद्र सहवाग, गौैतम गंभीर, जहीर खान को अभ्यास की जरूरत नहीं महसूस हुई। वहीं युवराज, सुरेश रैना, विराट कोहली, यूसुफ पठान, आर अश्विन, पीयूष चावला और मुनफ पटेल ने कोच गैरी क‌र्स्टन और मानसिक अनुकूलन कोच पैडी उप्टोन के साथ मैदान पर ज्यादा समय देने की जहमत नहीं उठाई। हां कोच क‌र्स्टन ने थोड़ा ध्यान देते हुए कोहली और पठान के साथ ज्यादा समय बिताया। भारत ग्रुप-बी के आखिरी लीग मैच में रविवार को वेस्टइंडीज से भिड़ेगा। भारत ने अभी तक पांच मैच खेले हैं जिसमें से उसने तीन मैच जीते और एक हारा है जबकि इंग्लैंड के साथ मुकाबला टाई रहा था। इस आधार पर भारत के अभी सात अंक हैं।

No comments:

Post a Comment