About Me

My photo
"खेल सिर्फ चरित्र का निर्माण ही नहीं करते हैं, वे इसे प्रकट भी करते हैं." (“Sports do not build character. They reveal it.”) shankar.chandraker@gmail.com ................................................................................................................................................. Raipur(Chhattigarh) India

Sunday 13 March 2011

विश्व कप : द. अफ्रीका की रोमांचक जीत

भारत को तीन विकेट से हराया, सचिन का शतक काम न आया
नागपुर. ग्रुप-बी के नागपुर में हुए मुकाबले में अंतिम ओवर तक चली जंग के बाद दक्षिण अफ्रीका ने भारत को तीन विकेट से हरा दिया। जीत के लिए 297 रनों के लक्ष्य का पीछा कर रहे दक्षिण अफ्रीका ने 49.4वें ओवर में जीत का चौका लगा दिया। डी फ्लेसिस (25) और रॉबिन पीटरसन (18) नाबाद रहे। मैच समाप्ति से दो ओवर पहले तक टीम इंडिया मैच पर पकड़ बनाए हुए थी, लेकिन अंतिम ओवर में आशीष नेहरा गेंदों पर पड़े दो चौकों और एक छक्के से पासा ही पलट गया और दक्षिण अफ्रीका जीत गया। भारतीय पारी में विकेटों की झड़ी लगाने वाले डेल स्टेन मैन आफ द मैच रहे।
द.अफ्रीका को जहीर खान ने पहला और हरभजन ने दूसरा झटका दिया। जहीर ने स्मिथ को मिड आॅफ पर सचिन के हाथों कैच करवाया। इसके बाद क्रीज पर जमे हासिम अमला (61) को हरभजन की गेंद पर विकेट के पीछे कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी ने लपका। 36वें ओवर में जैक्स कालिस (69) जहीर खान की गेंद पर रन आउट हुए। विकेट कीपर धोनी ने थ्रो को शानदार ढंग से लपक कर स्टम्प पर दे मारा और तीसरे अंपायर ने कालिस को आउट करार दिया।
पावर प्ले के दौरान शॉट मारने के चक्कर में हरभजन की गेंद पर ए बी डीविलियर्स (52) बाउंड्री पर विराट कोहली के हाथों लपके गए। 43वें ओवर में जेपी डुमिनी (23) भी हरभजन का शिकार बने। शॉट मारने के चक्कर में वे क्रीज से बाहर आ गए और विकेट के पीछे धोनी ने उन्हें स्टम्प आउट कर दिया। 44वें ओवर में मुनाफ पटेल की गेंद पर मोर्न वान विक (5) पगबाधा आउट करार दिए गए। मुनाफ पटेल ने 49वें ओवर की अंतिम गेंद पर जोहान बोथा को सुरेश रैना के हाथों लपकवा दिया।
इससे पहले सचिन तेंदुलकर के शानदार शतक(111), और सहवाग व गंभीर के साथ शतकीय साझेदारियों के बावजूद दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ भारत 48.4 ओवर में 296 पर ढेर हो गया। एक समय भारत ने 39 ओवर में 1 विकेट पर 267 रन बना लिए थे लेकिन सचिन के आउट होते ही टीम ताश के पत्तों की तरह ढह गई और पूरी पारी 50 ओवर भी नहीं खेल पाई। डेल स्टेन ने 50 रनदेकर 5 विकेट चटकाए।
टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए सहवाग ने स्टेन की पहली ही गेंद पर चौका जड़कर अपने इरादे जता दिए। हालांकि दूसरे ही ओवर में वान विक ने सहवाग का कैच टपका दिया। इस बीच सहवाग और आक्रामक हुए और 44 गेंदों पर अपना 47 वां अर्घशतक पूरा किया। इसके बाद सचिन ने भी आक्रामक खेल दिखाया और मात्र 33 गेंदों पर 5 चौकों व एक छक्के की मदद से अर्घशतक पूरा किया। हालांकि अर्धशतक बनाने के कुछ देर बाद सहवाग प्लेसिस की गेंद को लपकने के चक्कर में क्लीन बोल्ड हो गए। उन्होंने 66 गेंदों पर 73 रन बनाए। सचिन और सहवाग के बीच 142 रनों की साझेदारी हुई। दूसरे छोर पर सचिन ने अफ्रीकी गेंदबाजों की जमकर खबर ली और 92 गेंदों पर 7 चौकों व 3 छक्कों की  मदद से करियर का 48 वां शतक पूरा किया। उनका साथ निभा रहे गंभीर ने भी 59 गेंदों पर 50 रन पूरे किए। दोनों ने दूसरे किवेट के लिए 125 रन जोड़े। इस बीच रन गति बढ़ाने के चक्कर में सचिन मार्केल गेंद को प्वाइंट क्षेत्र में डुमिनी के हाथों में खेल बैठे। उन्होंने 101 गेंदों पर 111 रन बनाए। इसके अगले ही ओवर में गंभीर भी 69 रन बनाकर आउट हो गए। कप्तान धोनी 12 रन पर नाबाद रहे।
सचिन व गंभीर के आउट होते ही अफ्रीकी गेंदबाजों ने पांसा पलटा और भारत के मध्यमक्रम की कमर तोड़ते हुए उसे पूरी तरह ध्वस्त कर दिया । भारत के अंतिम 7 बल्लेबाज सिर्फ 28 रन ही जोड़ सके। चार बल्लेबाज तो खाता भी न खोल सके। दक्षिण अफ्रीका की ओर से डेल स्टेन ने पहले स्पेल मे पिटने के बाद शानदार वापसी की और 50 रन देकर 5 खिलाडियों को आउट किया। पीटरसन ने भी 2 विकेट लिए।

29 रन पर गंवाए 9 विकेट
भारत ने अंतिम 9 विकेट केवल 29 रन पर गंवा दिए। एक समय भारत को स्कोर 1 विकेट पर 267 रन था। तभी सचिन आउट हो गए। इकसे बाद भारत की पारी लड़खड़ाई और 8.4 ओवर में ही पूरी टीम 296 ढेर हो गई। अंतिम नौ विकेटों ने केवल 29 रन जोड़े।
--------------------------------
छक्के उड़ाने में सचिन ने गांगुली को पीछे छोड़ा
नागपुर. मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर एकदिवसीय क्रिकेट में सर्वाधिक छक्के उड़ाने के मामले में पूर्व भारतीय कप्तान सौरभ गांगुली को पीछे छोड़कर तीसरे स्थान पर पहुंच गए हैं।
 सचिन ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ विश्व कप मैच में तेज गेंदबाज डेल स्टेन की गेंद पर जबर्दस्त पुल करते हुए डीप बैकवर्ड स्क्वायर लेग के ऊपर से छक्का मारा। सचिन का 449वें मैच में यह 191वां छक्का था। मास्टर ब्लास्टर ने इसके साथ ही गांगुली के 190 छक्के मारने के भारतीय रिकार्ड को पीछे छोड़ दिया। इस मैच से पहले सचिन और गांगुली एक बराबरी पर थे। सचिन ने इससे पहले इंग्लैंड के खिलाफ इसी टूर्नामेंट के मैच में अपने रिकार्ड 47वें शतक के दौरान पांच छक्के उड़ाकर गांगुली की बराबरी की थी।  गांगुली ने 311 मैचों में 190 छक्के मारे थे। वनडे में सर्वाधिक छक्के मारने का विश्वरिकार्ड पाकिस्तान के शाहिद आफरीदी के नाम है जिन्होंने 316 मैचों में 289 छक्के मारे हैं। श्रीलंका के सनत जयसूर्या 270 छक्कों के साथ दूसरे स्थान पर हैं।
----------------------------
भारत ने तोड़ा पहले पावरप्ले का अपना ही रिकार्ड
नागपुर. भारत ने दक्षिण   अफ्रीका के खिलाफ आज यहां विश्व कप ग्रुप-बी मैच में दस ओवर के पहले पावरप्ले में सबसे ज्यादा रन बनाने का अपना ही रिकार्ड तोड़ डाला।
 मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर और नजफगढ़ के नवाब वीरेन्द्र सहवाग ने भारत को दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाजों डेल स्टेन और मोर्न मोर्कल के सामने गजब की शुरआत देते हुए पहले दस ओवरों में 87 रन जोड डाले। भारत ने इसके साथ ही हालैंड के खिलाफ अपने पिछले मैच में पहले दस ओवर में 82 रन बनाने के अपने ही पिछले रिकार्ड को तोड़ डाला। सहवाग ने मैच की शुरुआत एक बार फिर चौके के साथ ही। इसके बाद तो दसवें ओवर तक जाते-जाते भारतीय पारी में 12 चौके और एक छक्का लग चुका था।
--------------------------------
स्कोर कार्ड
भारत                                             रन    गेंद    4    6
ेसहवाग बो प्लेसिस                        73    66    12    0
सचिन कै डुमिनी बो मोर्केल               111    101    8    3
गंभीर कै कैलिस बो स्टेन                 69    75    7    0
यूसुफ कै स्मिथ बो स्टेन                  0    2    0    0
युवराज कै बोथा बो कैलिस             12    9    0    1
धोनी नाबाद                                   12    21    0    0
कोहली कै एंड बो पीटरसन               1    3    0    0
हरभजन बो स्टेन                           3    9    0    0
जहीर कै मोर्केल बो पीटरसन           0    3    0    0
नेहरा कै स्मिथ बो स्टेन                  0    3    0    0
मुनाफ बो स्टेन                             0    1    0    0
ृअतिरिक्त : 15, कुल : 48.4 ओवर में 296 रन (आलआउट)।  
विकेटपतन : 1-142 (वीरेंद्र सहवाग, 17.4), 2-267 (सचिन तेंदुलकर, 39.4), 3-268 (गौतम गंभीर, 40.1), 4-268 (यूसुफ पठान, 40.3), 5-283 (युवराज सिंह, 42.6), 6-286 (विराट कोहली, 43.6), 7-293 (हरभजन सिंह, 46.5), 8-294 (जहीर खान, 47.4), 9-296 (आशीष नेहरा, 48.3), 10-296 (मुनाफ पटेल, 48.4). गेंदबाजी : डेल स्टेन 9.4-0-50-5, मोर्न मोर्केल 7-0-49-1, जैक्स कैलिस 8-0-43-1, रोबिन पीटरसन 9-0-52-2, जेपी डुमिनी 3-0-29-0, जोहान बोथा 9-0-39-0, फाफ डू प्लेसिस 3-0-22-1 .
दक्षिण अफ्रीका                                      रन    गेंद    4    6
ग्रीम स्मिथ कै सचिन बो जहीर                16    2    2    0
अमला कै धोनी बो हरभजन                    61    72    5    0
कैलिस रनआउट                                    69    88    4    0
डीविलियर्स कै कोहली बो हरभजन         52    39    6    1
डुमिनी स्टंप्स बो हरभजन                      23    20    2    1
प्लेसिस नाबाद                                     25    23    0    1
वान विक पगबाधा बो मुनाफ                 5    5    1    0
बोथा कै रैना बो मुनाफ                         23    15    2    1
पीटरसन नाबाद                                 18    7    2    1
अतिरिक्त : 8, कुल :  49.4 ओवर में 7 विकेट पर 300 रन।
विकेटपतन : 1-41 (ग्रीम स्मिथ, 8.3), 2-127 (हाशिम अमला, 27.2), 3-173 (जैक्स कैलिस, 35.4), 4-223 (एबी डीविलियर्स, 40.3), 5-238 (जेपी डुमिनी, 42.3), 6-247 (वान विक, 43.6), 7-279 (जोहान बोथा, 47.5).
गेंदबाजी : जहीर खान 10-0-43-1, आशीष नेहरा 8.4-0-65-0, मुनाफ पटेल 10-0-65-2, यूसुफ पठान 4-0-20-0, युवराज सिंह 8-0-47-0, हरभजन सिंह 9-0-53-3.
-----------------------------------------------

No comments:

Post a Comment