About Me

My photo
"खेल सिर्फ चरित्र का निर्माण ही नहीं करते हैं, वे इसे प्रकट भी करते हैं." (“Sports do not build character. They reveal it.”) shankar.chandraker@gmail.com ................................................................................................................................................. Raipur(Chhattigarh) India

Friday 7 January 2011

इंग्लैंड का एशेज सीरीज पर कब्जा

सिडनी. इंग्लैंड ने पांचवें और आखिरी एशेज टेस्ट के अंतिम दिन  यहां आस्ट्रेलिया को पारी और 83 रन से रौंदते हुए कंगारूओं की जमीन पर 24 वर्ष में पहली बार प्रतिष्ठित एशेज सीरीज 3-1 से अपने नाम कर ली।
एशेज कलश पर पहले ही कब्जा सुनिश्चित कर चुकी इंग्लिश टीम को एशेज सीरीज जीतने के लिए अंतिम दिन सिर्फ तीन विकेट की दरकार थी। इंग्लैंड के गेंदबाजों ने 17 ओवर में ही आस्ट्रेलिया के बाकी तीन विकेट निकालकर जीत की औपचारिकता पूरी कर दी1 इस जीत के साथ ही इंग्लैंड में भी जश्न का दौर शुरू हो गया। इंग्लैंड की इस ऐतिहासिक जीत को देखने के लिए मैच के पांचवें और अंतिम दिन दर्शकों को निशुल्क प्रवेश दिया गया था। स्टेडियम में मौजूद 19000 दर्शकों में अधिकांश इंग्लैंड की टीम के समर्थक यानि ‘बार्मी आर्मी’ के सदस्य थे।
 क्रिस ट्रेमलेट ने जैसे ही माइकल बीयर को आउट किया, लाल और सफेद पोशाकें पहने ‘बार्मी आर्मी’ के शोर से आसमान गुंजायमान हो गया। इंग्लैंड के खिलाड़ी एशेज कलश को अपने हाथों में थामे खुशी से फूले नहीं समा रहे थे।  इंग्लैंड का चार वर्ष पहले आस्ट्रेलियाई जमीन पर एशेज सीरीज में 0-5 से सूपड़ा साफ हो गया था। लेकिन एंड्रयू स्ट्रास की अगुवाई में टीम ने चमत्कारिक प्रदर्शन करते हुए 24 वर्ष में पहली बार कंगारुओं को उनकी ही मांद में बुरी तरह धोकर रख दिया। इससे पहले वर्ष 1986-87 में माइक गैटिंग की कप्तानी में आस्ट्रेलिया में एशेज सीरीज पर कब्जा किया था।
 वहीं दूसरी ओर पिछले 130 वर्षों के टेस्ट क्रिकेट इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है जब आस्ट्रेलिया को एक श्रृंखला में तीन बार पारी की शर्मनाक हार झेलनी पड़ी है।  इंग्लैंड की ओर से 189 रन की शानदार पारी खेलने वाले ओपनर एलेस्टेयर कुक को ‘मैन आफ द मैच’ और ‘मैन आफ द सीरीज’ भी चुना गया. कुक ने पूरी सीरीज में भी 127.66 के शानदार औसत के साथ 766 रन बनाए।
 सिडनी क्रिकेट ग्राउंड में चार दिनों तक पूरी तरह अपना दबदबा स्थापित करने के बाद इंग्लैंड को एशेज सीरीज में जीत दर्ज करने के लिए अंतिम दिन सिर्फ तीन विकेट की दरकार थी। आस्ट्रेलिया को पहली पारी में 208 रन पर लुढ़काने के बाद इंग्लैंड ने पहली पारी में 644 रन का विशाल स्कोर खड़ा किया था। आस्ट्रेलिया को पारी की हार टालने के लिए 151 रनों की जरूरत थी जबकि उसके तीन विकेट शेष थे। आस्ट्रेलिया ने सात विकेट पर 213 रन से आगे खेलना शुरू किया। स्टीवन स्मिथ 24 और पीटर सिडल 17 रन पर नाबाद थे।

No comments:

Post a Comment