About Me

My photo
"खेल सिर्फ चरित्र का निर्माण ही नहीं करते हैं, वे इसे प्रकट भी करते हैं." (“Sports do not build character. They reveal it.”) shankar.chandraker@gmail.com ................................................................................................................................................. Raipur(Chhattigarh) India

Sunday 23 January 2011

वनडे सीरीज पर दक्षिण अफ्रीका का कब्जा

काम न आई पठानी पारी
सेंचुरियन.  दक्षिण अफ्रीकी गेंदबाजों के आगे सलामी बल्लेबाज यूसुफ पठान (105) का तूफानी शतक भी भारत को जीत दिलाने में नाकामयाब रहा। इस तरह दक्षिण अफ्रीका ने भारत को 33 रन से हराकर पांच वनडे मैचों की सीरीज 3-2 से जीत ली। मेजबान टीम की ओर से मोर्न मोर्कल ने चार विकेट ले अपनी टीम को विजयी बनाने में खास भूमिका अदा की। मोर्केल को शानदार गेंदबाजी के लिए मैन आफ द सीरीज का पुरस्कार दिया गया। वहीं मैच में नाबाद शतकीय पारी खेलने वाले दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज हाशिम अमला मैन आफ द मैच रहे।
इससे पहले हाशिम अमला (नाबाद 116) के शानदार तूफानी शतक के दम पर दक्षिण अफ्रीका ने भारत के खिलाफ सीरीज के पांचवें और निर्णायक मुकाबले में बारिश के चलते घटाए गए ओवरों में 46 ओवर में नौ विकेट खोकर 250 रन बनाए। हालांकि, टीम इंडिया को सीरीज जीतने के लिए डकवर्थ लुइस नियम से 46 ओवर में 268 रन बनाने का लक्ष्य मिला। बारिश के कारण 42वें ओवर में खेल रोक दिया गया था। तब तक हाशिम अमला की बदौलत मेजबान टीम ने तीन विकेट खोते हुए 226 रन बना लिए थे। इससे भारत के लिए सीरीज जीतने की राह काफी मुश्किल भरी हो गई थी। मगर बारिश के थमते ही भारतीय गेंदबाजों ने गजब का पलटवार करते हुए दक्षिण अफ्रीका को 46 ओवर में नौ विकेट पर 250 रनों पर समेट दिया। टीम इंडिया की ओर से मुनाफ पटेल ने बेहतरीन गेंदबाजी की और तीन विकेट लेते हुए मेजबानों पर कहर बनकर टूट पड़े। वहीं, जहीर खान और युवराज सिंह ने भी दो-दो विकेट लेते हुए दक्षिण अफ्रीका को परेशानी में डाल दिया।
बारिश के कारण खेल रुकने तक 42 ओवर में तीन विकेट खोकर 226 रन बना लिए थे। अमला के साथ जेपी डुमनी क्रीज पर मौजूद थे। हालांकि, 43वें ओवर की शुरुआत होते ही डुमिनी मुनाफ की गेंद पर उन्हीं के हाथों में अपना कैच दे बैठे। वे अपने देश के स्कोर में 35 रनों का सहयोग कर सके। उनके बाद टीम को सहारा देने के लिए फैफ डु प्लेसिस (8) ने मैदान में कदम रखा। मगर वे भी ज्यादा देर तक नहीं टिक सके और मुनाफ की ही गेंद पर बोल्ड हो गए। फिर मुनाफ के दोहरे हमले से घायल मेजबान टीम को राहत देने के लिए जोहान बोथा (2) को क्रीज में भेजा गया। मगर जल्द ही वे भी पैवेलियन लौट गए। इसी क्रम में डेल स्टेन और मोर्न मोर्कल दोनों ही शून्य का व्यक्तिगत स्कोर लिए हुए रन आउट हो गए।
पांच वनडे मैचों की सीरीज में दोनों ही टीमें 2-2 से बराबरी पर हैं। इसलिए दोनों ही टीमों के लिए यह मुकाबला अहम है। इससे पहले टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी दक्षिण अफ्रीका की शुरुआत अच्छी नहीं रही और सलामी बल्लेबाज ग्रीम स्मिथ सात रन के निजी योग पर जहीर खान की गेंद पर यूसुफ पठान के हाथों लपके गए। स्मिथ का विकेट सिर्फ 16 रन पर गिरा। स्मिथ का साथ देने आए अमला ने जबर्दस्त खेल दिखाया और अपनी शतकीय पारी के दौरान नौ चौके जड़कर भारतीय गेंदबाजों को करारा जवाब दिया। मोर्ने वान विक ने अमला का बेहतरीन साथ दिया और 63 गेंदों पर आठ चौकों की मदद से 56 रन बनाए। विक को युवराज सिंह ने अपनी गेंद पर कैच आउट किया। विक ने दूसरे विकेट के लिए अमला के साथ मिलकर 97 रनों की साझेदारी की। इसके बाद एबी डीविलियर्स 12 गेंदों पर एक चौके की मदद से 11 रन बनाकर युवराज की गेंद पर धौनी के हाथों स्टंप आउट हो गए थे।

No comments:

Post a Comment